प्रतीकात्मक चित्र
प्रतीकात्मक चित्र

उन्नाव/भाषा। जिला प्रशासन ने दुष्कर्म पीड़िता के मुकदमों में पैरवी करने वाले दूसरे अधिवक्‍ता अजेन्‍द्र अवस्‍थी को सरकारी सुरक्षा मुहैया कराई है। वहीं पीड़िता की सुरक्षा में लगे तीनों सुरक्षा कर्मियों को पुलिस अधीक्षक ने निलंबित कर दिया है। ये सभी दुर्घटना के वक्‍त उसके साथ नहीं थे।

पुलिस अधीक्षक एमपी वर्मा ने बताया कि ड्यूटी से अनुपस्थित रहने के लिए तीनों सुरक्षाकर्मी गनर सुदेश कुमार, महिला आरक्षी रूबी पटेल और महिला आरक्षी सुनीता देवी को निलंबित कर दिया गया है। इस मामले की जांच की जा रही है।

पीड़िता के परिवार की ओर से तमाम आरोप सामने आने के बाद प्रशासन ने अब चाचा के वकील अजेंद्र अवस्थी को भी सुरक्षा मुहैया कराई है।

गौरतलब है कि विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली लड़की, उसकी चाची और मौसी अपने वकील के साथ रायबरेली जेल में बंद अपने रिश्तेदार से रविवार को मुलाकात करने जा रहे थे। रास्ते में रायबरेली के गुरबख्श गंज क्षेत्र में उनकी कार और एक ट्रक के बीच संदिग्ध परिस्थितियों में टक्कर हो गई थी।

इस हादसे में पीडिता की मौसी ने स्थानीय अस्पताल में दम तोड़ दिया था। वहीं, हादसे में घायल कार सवार चाची को लखनऊ स्थित ट्रामा सेंटर में चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया था। जबकि पीड़िता और उसके वकील पिछले पांच दिन से अस्पताल में भर्ती हैं।

LEAVE A REPLY

16 + five =