केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले
केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले

मुंबई/भाषा। केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले ने रविवार को सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे के उस बयान का समर्थन किया जिसमें उन्होंने कहा था कि राजनीतिक नेतृत्व से अनुमति मिलने पर सेना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) पर नियंत्रण कर सकती है।

आठवले ने कहा कि पीओके में भारत को निशाना बनाने वाले आतंकवादी संगठनों का ठिकाना है और उनको उखाड़ फेंकने के लिए सैन्य कार्रवाई की जरूरत है।

केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने रविवार को जारी बयान में कहा, मैं सेना प्रमुख नरवणे के उस बयान का समर्थन करता हूं जिसमें उन्होंने कहा था कि केंद्र सरकार से आदेश मिलने पर सेना पीओके में सैन्य कार्रवाई करने के लिए तैयार है।

उन्होंने कहा कि देश को अपने सैन्य बलों की क्षमता पर पूरा भरोसा है। उल्लेखनीय है कि शनिवार को संवाददाता सम्मेलन में सेना प्रमुख ने कहा था, जहां तक पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर की बात है तो पूरा जम्मू-कश्मीर भारत का हिस्सा होने संबंधी संसद का कई साल पुराना प्रस्ताव है। अगर संसद चाहेगी कि वह हिस्सा भी हमारा होना चाहिए और अगर इसका आदेश हमें मिले तो निश्चित तौर पर हम कार्रवाई करेंगे।

सेना प्रमुख फरवरी 1994 में पारित संसद के प्रस्ताव का उल्लेख कर रहे थे जिसमें कहा गया था कि पाकिस्तान को जम्मू-कश्मीर का इलाका खाली करना चाहिए जिस पर आक्रमण के जरिए कब्जा किया गया है।