रणथंभौर में फिर पॉलीथिन खाकर भूख मिटाते दिखे जानवर

सवाई माधोपुर/एजेन्सी। राजस्थान के सवाई माधोपुर के रणथम्भौर नेशनल पार्क के वन्य जीवों पर वन विभाग की लापरवाही भारी पड़ रही है।
ताजा मामला रणथम्भौर के जोन नंबर दो का है। यहां एक सांभर और कुछ बंदर पॉलीथिन और अन्य कचरा खाकर अपनी भूख मिटाने को विवश हैं।
इस कारूणिक दृश्य का वीडियो पार्क घूमने आए किसी पर्यटक ने बनाकर सोशल मीडिया पर डाल दिया है जो वायरल हो रहा है। हालांकि यह कोई पहला मौका नही है जब किसी वन्यजीव का पॉलीथिन व अन्य कचरा खाते हुए वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है।
इससे पहले भी बीते जून महीने में इसी तरह का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। इसके बाद प्रदूषण नियंत्रण मंडल द्वारा रणथंभौर नेशनल पार्क के आसपास के करीब 22 होटलों की जांच की गई थी और अनियमितताएं मिलने पर आधे दर्जन होटलों को नोटिस जारी किये गए थे।
इसके बाद पीसीसीएफ द्वारा एक आदेश जारी कर रणथम्भौर वन क्षेत्र में पॉलीथिन और अन्य प्लास्टिक सामग्री के प्रवेश पर पूर्णतया पाबंदी लगाई गई थी. इतना ही नहीं पॉलीथिन और अन्य प्लास्टिक सामग्री ले जाने पर भारी जुर्माने का भी प्रावधान रखा गया था, लेकिन विभागीय अधिकारियों की उदासीनता के कारण रणथम्भौर पार्क में प्लास्टिक के उपयोग पर रोक नही लग पा रही है।
रणथंभौर में प्लास्टिक के उपयोग को बंद करने की मांग को लेकर पूर्व में कई बार बाघ संरक्षण एवं ग्रामीण विकास समिति द्वारा रणथम्भौर वन अधिकारियों को ज्ञापन दिए जा चुके हैं। इसके बावजूद आज भी रणथम्भौर वन भ्रमण पर जाने वाले कई पर्यटक अपने साथ प्लास्टिक सामग्री ले जाते हैं, जिन्हें रोकने-टोकने वाला कोई नहीं है।