पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज
पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज

नई दिल्ली/भाषा। बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना, ईरान के विदेश मंत्री जवाद जरीफ और संयुक्त राष्ट्र महासभा अध्यक्ष मारिया फर्नांडा एस्पिनोसा गार्सेस समेत दुनिया भर के नेताओं ने भारत की पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के निधन पर बुधवार को शोक व्यक्त किया।

समूचे विश्व के नेताओं ने भारतीय जनता पार्टी की अनुभवी नेता को ‘अच्छी दोस्त’, ‘प्यारी बहन’ और ‘असाधारण महिला’ बताया। स्वराज का मंगलवार रात दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया था। बांग्लादेश की प्रधानमंत्री ने कहा कि उनके देश ने एक ‘अच्छी दोस्त’ खो दी।

उन्होंने बीडीन्यूज24 से कहा, वे बांग्लादेश की अच्छी दोस्त थीं। उनके निधन के बाद बांग्लादेश ने एक अच्छी दोस्त को खो दिया। दोनों देशों के आपसी संबंधों को नई बुलंदियों तक ले जाने के लिए बांग्लादेश उनके योगदान को हमेशा याद रखेगा।

ईरान के विदेश मंत्री जरीफ ने कहा, पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के निधन पर भारत सरकार और भारतवासियों को मेरी संवदेनाएं। जब वे विदेश मंत्री थीं, तब मेरी उनसे कई बार सार्थक और उपयोगी चर्चा हुई। मैं उनके असामयिक निधन से दुखी हूं। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दे।

बहरीन के विदेश मंत्री खालिद बिन अहमद अल खलीफा ने स्वराज को ‘प्यारी बहन’ बताते हुए कहा कि वे उन्हें हमेशा अपना भाई कहती थीं। उन्होंने कहा, वह अब हमारे बीच नहीं है। ईश्वर मेरी प्यारी बहन की आत्मा को शांति दे। भारत और बहरीन को आपकी कमी खलेगी।

यूएनजीए अध्यक्ष ने कहा कि वे स्वराज के निधन से दुखी हैं। उन्होंने स्वराज को असाधारण महिला और नेता बताया जिसने अपना पूरा जीवन जनता की सेवा में लगा दिया। उन्होंने ट्वीट किया, मैंने भारत दौरे पर उनसे मुलाकात की थी और वे हमेशा मेरी यादों में रहेंगी। उनके प्रियजनों को मेरी संवेदनाएं।

अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति हामिद करजई ने उन्हें ‘बहनजी’ संबोधित करते हुए उनके निधन पर शोक जताया। उन्होंने ट्वीट किया, बहनजी सुषमा स्वराज के इंतकाल से दुखी हूं। एक कद्दावर नेता, महान वक्ता और लोगों की अपनी। भारतवासियों, उनके परिवार और दोस्तों के प्रति मेरी संवेदना।

रूस के विदेश मंत्रालय ने ट्वीट किया, इस दोस्त देश की पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के निधन पर भारत के लोगों के प्रति हमारी संवेदनाएं। भारत में फ्रांस के राजदूत अजेक्जेंडर जीगलेर ने कहा कि वे भारत की सबसे सम्मानित नेताओं में से थीं जिन्होंने अपने देशवासियों की सेवा की और भारत-फ्रांस संबंधों को नई ऊंचाइयों तक पहुंचाया। अफगानिस्तान के विदेश मंत्री सलाहुद्दीन रब्बानी ने भी उनके निधन पर शोक जताया।

LEAVE A REPLY

20 − twelve =