nita and mukesh ambani
nita and mukesh ambani

मुंबई/दक्षिण भारत। पुलवामा में शहीद हुए सीआरपीएफ जवानों के बच्चों की मदद के लिए रिलायंस फाउंडेशन ने बड़ा फैसला किया है। संस्था ने वीर जवानों द्वारा देश के लिए दिए गए बलिदान का उल्लेख करते हुए कहा है कि कोई भी बुरी ताकत हमारी एकता को नहीं तोड़ सकती। रिलायंस फाउंडेशन ने अपनी घोषणा में कहा है कि वह शहीद जवानों के बच्चों की शिक्षा और नौकरी की पूरी जिम्मेदारी लेता है। साथ ही उनके परिवार के घर-खर्च का जिम्मा भी रिलायंस ने लिया है। जरूरत पड़ने पर रिलायंस के अस्पताल घायल जवानों को चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के लिए तैयार हैं।

रिलायंस फाउंडेशन द्वारा जारी की गई प्रेस रिलीज में 14 फरवरी को पुलवामा में सीआरपीएफ जवानों पर हुए हमले का जिक्र करते हुए कहा गया है कि रिलायंस परिवार भारत के 1.3 अरब लोगों के साथ है। कोई भी नापाक ताकत आतंकवाद को शिकस्त देने के लिए भारत के प्रयासों को नहीं रोक सकती। आतंकवाद को मानवता का दुश्मन बताते हुए रिलायंस फाउंडेशन ने कहा है कि इस दुख की घड़ी में एक नागरिक के साथ ही बतौर कॉरपोरेट सिटीजन हम सशस्त्र बलों और सरकार के साथ हैं।

रिलायंस फाउंडेशन ने देश के लिए कुर्बान हुए वीर जवानों के प्रति कृतज्ञता जताते हुए कहा है कि यदि सरकार उसे कोई और दायित्व सौंपती है तो वह उसके लिए तैयार है। बता दें कि रिलायंस इंडस्ट्रीज की सहायक संस्था रिलायंस फाउंडेशन की अध्यक्ष नीता अंबानी हैं। पुलवामा हमले के बाद देश के नामी उद्योगपति सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर देशवासियों से एकजुटता की अपील के साथ ही शहीद जवानों के परिजनों के लिए आर्थिक सहायता की बात भी कह चुके हैं।

LEAVE A REPLY

two × 1 =