आजम खान ने रमा देवी पर अभद्र टिप्पणी की थी।
आजम खान ने रमा देवी पर अभद्र टिप्पणी की थी।

नई दिल्ली/भाषा। राष्ट्रीय महिला आयोग ने समाजवादी पार्टी नेता आजम खान द्वारा पीठासीन सभापति और भाजपा सांसद रमा देवी पर की गई ‘आपत्तिजनक’ टिप्पणी के लिए निंदा की।

आजम की टिप्पणी के बाद लोकसभा में हंगामा शुरू हो गया था। केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद और अर्जुन राम मेघवाल ने टिप्पणी पर ऐतराज जताते हुए खान से माफी की मांग की थी।

आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा कि सपा नेता को संसद के लिए अयोग्य घोषित कर दिया जाना चाहिए। उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि वे आजम की अपमानजनक और यौन विभेदकारी टिप्पणी की निंदा करती हैं। उन्हें संसद के लिए अयोग्य घोषित किया जाना चाहिए।

दिल्ली महिला आयोग की प्रमुख स्वाति मालीवाल ने भी उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री की आलोचना करते हुए कहा कि उन्हें इस ‘अशिष्ट बयान’ के लिए जेल भेज देना चाहिए।

उन्होंने ट्वीट किया, आजम खान को शर्म आनी चाहिए। पीठासीन सभापति की कुर्सी पर बैठीं सांसद के खिलाफ ऐसा अशिष्ट बयान… ऐसे नेताओं की गिरफ्तारी के लिए केंद्र कब कानून बनाएगा? इस व्यक्ति को पहले पागलखाने और फिर जेल भेजना चाहिए।

‘मुस्लिम महिला (विवाह अधिकार संरक्षण) विधेयक, 2019’ पर चर्चा में भाग लेते हुए आजम खान ने कथित टिप्पणी की थी।

जब रमा देवी ने उनसे माफी मांगने के लिए कहा तो खान ने कहा कि उनका इरादा अनादर करने का नहीं था, क्योंकि आप मेरी प्यारी बहन जैसी हैं।

LEAVE A REPLY

eighteen − 3 =