दुर्घटनाग्रस्त विमान के मलबे को जांचने पहुंचे कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी।
दुर्घटनाग्रस्त विमान के मलबे को जांचने पहुंचे कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी।

आदिस अबाबा/वार्ता। इथोपिया के विमान बोइंग ७३७ के देश के मध्यवर्ती क्षेत्र में रविवार को दुर्घटनाग्रस्त हो जाने से उसमें सवार सभी 157 यात्री एवं चालक दल के सदस्य मारे गए। यह विमान केन्या की राजधानी नैरोबी जा रहा था। इथोपिया के प्रधानमंत्री अबी अहमद ने पीड़ित के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है।

प्रधानमंत्री ने ट्विटर पर कहा, नैरोबी जा रहे बोइंग 737 विमान के आज सुबह दुर्घटनाग्रस्त होने की घटना में मारे गए लोगों के परिजनों के प्रति मेरी गहरी संवेदना है। बीबीसी ने अपनी रिपोर्ट में कहा, दुर्घटनाग्रस्त हुए विमान में 149 यात्री और चालक दल के आठ सदस्य थे। इथोपिया एयरलाइन्स के बयान में कहा गया, आदिस अबाबा से नैरोबी जा रहा विमान, संख्या ईटी 302/10 दुर्घटनाग्रस्त हो गया।

ऐसा माना जाता है कि उसमें १४९ यात्री और चालक दल के आठ सदस्य सवार थे। मामले की पूरी जानकारी जुटाई जा रही है। एयरलाइन ने कहा कि विमान ने आठ बजकर 38 मिनट पर उड़ान भरी थी और आठ बजकर 44 मिनट पर नियंत्रण कक्ष का विमान से संपर्क टूट गया था।

मृतकों में 4 भारतीय
एयरलाइंस ने बताया कि मरने वाले यात्री 35 देशों के नागरिक हैं जिनमें चार भारतीय भी शामिल हैं। सबसे ज्यादा 32 यात्री केन्या से थे। कनाडा के 18, इथोपिया के नौ, चीन, इटली और अमेरिका के आठ-आठ, फ्रांस और ब्रिटेन के सात-सात, मिस्र के छह, जर्मनी के पांच, स्लोवाकिया के चार, ऑस्ट्रेलिया, रूस और स्वीडन के तीन-तीन, स्पेन, इजरायल, मोरक्को और पोलैंड के दो-दो नागरिक इस हादसे में मारे गए हैं।

पायलट ने भेजा था संदेश
इथोपिया एयरलाइन के दुर्घटनाग्रस्त हुए विमान के पायलट ने अदीस अबाबा से उड़ान भरने के बाद नियंत्रक को सूचित किया था कि उसे कुछ दिक्कत हो रही है और वह 157 यात्रियों को ले जा रहे विमान को वापस लाना चाहता था। यह विमान उड़ान भरने के छह मिनट बाद दुर्घटनाग्रस्त हो गया था।

LEAVE A REPLY

two + eleven =