शहद में विटामिन ए, बी, सी, पाए जाते हैं। इसके अलावा आयरन, कैल्शियम, सोडियम फॉस्फोरस, आयोडीन भी पाए जाते हैं। इसीलिए प्रतिदिन शहद का सेवन करने से शरीर में शक्ति, स्फूर्ति, और ताजगी बनी रहती है और रोगों से ल़डने की शक्ति भी ब़ढती है। हगर्भावस्था के दौरान यदि महिलाएं प्रतिदिन शहद का सेवन करती हैं उनका होने वाला बच्चा अन्य बच्चों के मुकाबले मानसिक दृष्टि से अधिक श्रेष्ठ और स्वस्थ होता है।।शहद से त्वचा पर निखार लाया जा सकता है। इसके लिए गुलाब जल, नींबू और शहद मिलाकर लगाना चाहिए।व शहद के औषधीय गुणों के कारण अनेक बीमरियों से छुटाकरा पाने के लिए इसका उपयोग किया जाता है। शहद को खाने से आंखों की रोशनी ब़ढती है और मोतियाबिंदु जैसी बीमारियों को भी शहद से दूर किया जा सकता है।कफ एवं अस्थमा को शहद के इस्तेमाल से दूर किया जा सकता है। अदरक के रस में शहद मिलाकर देने से खांसी में आराम मिलता है।उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने में शहद कारगर है। रक्त को साफ करने यानी रक्त शुद्धि के लिए भी शहद का सेवन करना चाहिए।वदिल को मजबूत करने, हृदय के सुचारू रूप से कार्य करने और हृदय संबंधी रोगों से बचने के लिए प्रतिदिन शहद खाना अच्छा रहता है।ामशहद रोजाना खाने से सेहत बनती है और शरीर मोटा होता है। दिमागी कमजोरियां दूर होती है।नाशहद को खाने से चेहरे की झाइयां और मुंहासे दूर हो जाते हैं।चागर्मियों के दिनों में रोजाना पानी के साथ शहद के सेवन से पेट हल्का रहता है।।पके आम के रस में शहद मिलाकर लेने से पीलिया में लाभ मिलता है।चेहरे की खुश्की दूर करने के लिए शहद, मलाई और बेसन का उबटन लगाना चाहिए। इससे चेहरे पर चमक भी आएगी।।मोटापा ब़ढाने या शरीर की दुर्बलता दूर करने के लिए रात को बिना चीनी के एक गिलास दूध में शहद डालकर पीने से शरीर सुडौल, पुष्ट व बलशाली बनता है।ै।रोजाना शहद के सेवन से किडनी और आंत ठीक रहते आती है।शहद को चाय या दूध के साथ लेने से पेट संबंधी संक्रमण से छुटकारा पाया जा सकता हैं।सांस संबंधी बीमारियों को दूर करने के लिए अदरक का रस और शहद चाटना अच्छा रहता है।कब्ज को दूर करने के लिए भी शहद का इस्तेमाल किया जाता है। टमाटर या संतरे के रस में एक चम्मच शहद डालकर प्रतिदिन लेने से कब्ज की शिकायत दूर होने लगती है।ताशहद को घाव पर लगाने से घाव जल्दी भर जाते हैं।ा

LEAVE A REPLY

1 × four =