ग्रीन टी के कई फायदे हैं बाजार में अनेकों प्रकार की ग्रीन टी उपलब्ध हैं जो कि फ्लेवर और कैफीन में अलग-अलग प्रकार की हैं। कौन सी ग्रीन टी का टेस्ट अच्छा है, यह तो खुद की पसंद पर निर्भर करता है फिर भी आप स्वास्थ्य लाभ को देखते हुए अदरक, इलायची, काली मिर्च और दालचीनी जैसी ज़डी बूटियों और मसालों के मिश्रण वाली ग्रीन टी का चुनाव कर सकते हैं।ख्श्नर्‍द्म ट्टर्‍ ·द्द र्ीं्रु ृमच्णष्ठ झ्श्न·र्ैंय्द्य दृ-जैस्मीन ग्रीन : जैस्मीन ग्रीन टी एक हल्का पेय है जिसमें कैलोरीज नहीं होती हैं और पोषक तत्व भरपूर होते हैं। इसमें एक विशेष मिश्रण होता है जिसे ईजीसीजी कहते हैं। यह कैंसर की रोकथाम के लिए उपयोगी है, इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट तत्वों में फ्री रेडिकल्स के प्रभाव को शरीर में बेअसर करने की क्षमता होती है, जो कि डीएनए को ख़राब कर सकते हैं और कैंसर भी पैदा करते हैं। यह टाइप २ डायबिटीज की संभावना को भी कम करती है। इसके अलावा, इसकी सुगंध भी अच्छी होती है यदि आप जैस्मीन ग्रीन टी लेना चाहते हैं तो तुलसी या ट्वीनिंग्स जैसे ब्रांड्स ले सकते हैं।मोरक्को मिंट ग्रीन टी : मोरक्को मिंट ग्रीन टी एक स्वादिष्ट पेय है, जो कि मोरक्को के लोगों द्वारा रोजाना पी जाती है इसमें भी कैलोरी कम होती है और यह सुखी चाय की पत्तियों द्वारा बनाई जाती है। यह पुदीने की पत्तियों में ग्रीन टी को भिगोकर बनाई जाती है। यह दर्द दूर करने वाली औषधि की भांति काम करती है और शांति प्रदान करने वाले तत्वों से भरपूर है। पुदीना सीने की जलन, पाचन की समस्या का समाधान करता है। यह खून के इकठ्ठा होने या सिरदर्द होने पर भी कारगर है। यह विटामिन से भरपूर है और शरीर के लिए कई तरीकों से फायदेमंद है। पेट की समस्याओं का सारा हल है ग्रीन टी।ड्रैगन वेल ग्रीन टी : ड्रैगन वेल ग्रीन टी चीन के सबसे प्रसिद्ध ग्रीन टी में से एक है। यह स्मूथ होती है और इसका टेस्ट शानदार होता है। यह पाचन क्षमता को बढाती है और फैट को बर्न करने में मदद करती है। इस चाय में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट्स कोलेस्ट्रोल लेवल और ब्लड प्रेशर को कम करते हैं और साथ ही बुखार व अन्य बैक्टीरियल और वायरल इन्फेक्शंस को कम करते हैं। यदि आप जुकाम, बुखार से पीि़डत हैं तो यह चाय आपको राहत प्रदान कर सकती है।ग्युकुरो ग्रीन टी : यह ग्रीन टी मुख्य रूप से जापान में उगाई जाती है इस चाय की पत्तियां छोटी होती हैं और हरे रंग की होती हैं। यह चाय बहुत स्वास्थ्यवर्धक है और कई बिमारियों के इलाज में काम आती है। इसका सबसे ब़डा फायदा है कि इसमें पॉलीफिनॉल होता है जो कि कैंसर को रोकने में मददगार है। आपके ब्लड ग्लूको़ज को नियंत्रित कर यह दिल की बिमारियों और डायबिटीज के खतरे को भी कम करती है। ग्युकुरो टी स्टोर्स पर बिखरी हुई सुखी पत्तियों के रूप में मिलती है, इसमें कैफीन होता है। इसलिए यदि आप गर्भवती हैं या बच्चे को स्तनपान कराती हैं तो इसका सेवन न करें।गेनमाइचा ग्रीन टी : यही बेहतरीन किस्म की जापानी चाय ब्राउन राइस कर्नेल्स के साथ मिक्स की जाती है कैटेचिन्स, गैलिक एसिड जैसे पॉलीफेनोल्स और करोटेनॉइड्स और एस्कॉर्बिक एसिड जैसे एंटी ऑक्सीडेंट्स की अधिकता के कारण यह कई बिमारियों की रोकथाम करती है। यह हाई ब्लड प्रेशर को भी कम करती है। यह दिल की बिमारियों के खतरे को भी कम करती है।ख्श्नर्‍द्म ट्टर्‍ ्य·र्ैंफ् झ्श्न·र्ैंय्द्य ्यख्रध् ·र्ैंर्‍ ्यद्धद्बय्यद्यद्भह्र फ्ष्ठ द्यूय्य् ·र्ैंद्यत्रर्‍ ब्स् ?कुकीचा ग्रीन टी : कुकीचा ग्रीन टी एक जापानी चाय है, जो कि चाय के पौधे के तने और टहनी से बनाई जाती है इसमें कैफीन की मात्रा बहुत कम होती है और अल्कालाइिं़जग तत्वों की अधिकता होती है। कम कैफीन वाले पेय पदार्थों का सेवन करने से एसिडिटी, चिंता, अनिद्रा जैसी परेशानियों से छुटकारा मिलता है। इस चाय में विटामिन और मिनरल्स की अधिकता होती है साथ ही इसमें १ गिलास दूध से ज्यादा कैल्शियम होता है। यह ठंडी या गर्म दोनों तरह से पी जा सकती है यह नाश्ते के साथ अच्छा विकल्प है क्योंकि यह ऊर्जा और शक्ति प्रदान करती है।सेन्चा ग्रीन टी : सेन्चा ग्रीन टी एक जापानी फ्लेवर्ड टी है जो कि कम प्रोसेसिंग द्वारा तैयार की जाती है इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट्स की अधिकता होती है जिससे यह कोशिकाओं और ऊतकों को फ्री रेडिकल डैमेज से बचाती है। यह ब्लड प्रेशर को कम करती है और दिल की बिमारियों को दूर रखती है। इसकी खुश्बू मुंह की दुर्गन्ध को भी दूर रखती है। आप मुंह की दुर्गन्ध को दूर करने के लिए इसके इलायची फ्लेवर का इस्तेमाल कर सकते हैं। प्राकृतिक रूप से मुह की दुर्गन्ध को दूर करने के ९ तरीकों में यह शामिल है।माचा ग्रीन टी : माचा ग्रीन टी चाय की पत्तियों को फाइन पाउडर में पीसकर बनाई जाती है। अन्य हरी पत्तेदार चायों के मुकाबले यह ज्यादा स्वास्थ्यकर है इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट्स और अन्य मिनरल्स भरपूर होते हैं। एमिनो एसिड एल-थाईनाइन एक सुगन्धित पदार्थ है जिसकी सुगंध आपको एक अच्छा अहसास कराती है इसमें क्लोरोफिल की अधिकता होती है जो कि नशे की लत से छुटकारा दिलाती है। इस ग्रीन टी के पाउडर में इलायची मिलाने से आंत के की़डे दूर होते हैं।हौजीचा ग्रीन टी : हौजीचा ग्रीन टी की पत्तियां भूरे रंग की और पप़डीदार होती है। यह भी कम कैफीन वाला पेय पदार्थ है। आप सोने से पहले इसे पी सकते हैं। इससे आपको नींद अच्छी आएगी इसके अतिरिक्त इसमें एंटी- बैक्टीरियल और एंटी-वायरल तत्व होते हैं जो कि दिल की बिमारियों से रक्षा करते हैं।आर्गेनिक हौजीचा ग्रीन टी : अमे़जन से भी ऑर्डर की जा सकती है। बांचा ग्रीन टी बांचा टी का फ्लेवर शानदार है और इसे बनाना भी आसान है इसमें भी कैफीन की मात्रा कम होती है। कैटेचिन्स जैसे पॉलीफेनोल्स की अधिकता होती है। यह आपकी मानसिक अलर्टनेस को बढाती है। यह कैविटीज जैसे ओरल इन्फेक्शंस को दूर करती है। ग्रीन टी में काली मिर्च मिलाने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाती है और इन्फेक्शन को दूर रखती है। दिमाग में याद रखने योग्य बातें बोतल टी की बजाय बनाई हुई चाय ज्यादा बेहतर है क्योंकि इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट्स की अधिकता होती है। परम्परागत चाय में पेस्टिसाइड के अवशेष हो सकते हैं इसलिए आर्गेनिक चाय एक अच्छा विकल्प है। कम कैफीन होने से इन चायों में उपयोगी एंटी-ऑक्सीडेंट्स कम होते हैं यदि आप कैफीन की अधिक मात्रा चाहते हैं तो हौजीचा और बांचा टी ले सकते हैं।

LEAVE A REPLY

2 × four =