कॉमेडी फिल्मों ने मुझे अभिनय निखारने का मौका दिया : कृति खरबंदा

मुंबई/भाषा। अभिनेत्री कृति खरबंदा को लगता है कि एक के बाद एक कॉमेडी फिल्में करने के बावजूद वह किसी खास इमेज में नहीं बंधीं बल्कि इससे उनके अभिनय में निखार आया है। गेस्ट इन लंदन और हाउसफुल के बाद अब कृति पागलपंती में नजर आएंगी। उन्होंने कहा लोग मुझसे कहते हैं कि मैंने तीन-तीन कॉमेडी फिल्में कर डालीं। अनिल (कपूर) सर ने शायद 30 अलग-अलग कॉमेडी फिल्में की हैं लेकिन आपको कहीं भी यह नहीं लगेगा कि उन्होंने खुद को दोहराया है। मुझे भले ही यह कहा जाता है कि आपने केवल कॉमेडी की है लेकिन तीन-तीन हास्य किरदार निभाना, अपने आप में बड़ी चुनौती है। आपको तीनों किरदार में तीन अलग-अलग रंग डालने पड़ते हैं, आपको दोहराव से बचना होता है। कृति ने कहा इससे मुझे एक कलाकार के तौर पर अपना अभिनय निखारने में मदद मिली… जब आप खुद के साथ ही स्पर्धा करते हैं तो इससे अच्छी बात और कोई नहीं होती।
अनीस बज्मी के निर्देशन में बनी पागलपंती में पुलकित शर्मा, जॉन अब्राहम, इलीना डिक्रूज, अरशद वारसी और सौरभ शुक्ला ने काम किया है। आगामी थ्रिलर फिल्म चेहरे के लिए मेगा स्टार अमिताभ बच्चन के साथ काम करना कृति के लिए कभी न भूल पाने वाला अनुभव है। उन्होंने कहा अमिताभ बच्चन के साथ काम करना अविस्मरणीय पलों में से एक है। हालांकि मुझे विश्‍वास था कि मैं उनके सामने नहीं घबराउंगी और मेरी कोशिश सफल रही।
उन्होंने कहा डेविड (धवन) जी ने पुलकित से जो कहा था वह मुझे याद है। जब आप किसी बहुत बड़े कलाकार के साथ काम करें तो आपको यह भूल जाना चाहिए कि आपके सामने कौन है। तब आपको केवल अपना किरदार याद रहना चाहिए। ऐसे में सामने वाला भी आपके समर्पण की सराहना करेगा। खुद नर्वस होकर अपने काम को प्रभावित नहीं होने देना चाहिए। पागलपंती 22 नवंबर को रिलीज होगी।