गुरु गुणस्मरण से अनंत कर्मों की निर्जरा होती है : साध्वी कुमुदलता

दीक्षार्थियों का सम्मान

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। स्थानीय वीवीपुरम स्थित महावीर धर्मशाला में चातुर्मासार्थ विराजित साध्वी डॉ.कुमुदलताजी, महाप्रज्ञाजी, पद्मकीर्तिजी व राजकीर्तिजी के सान्निध्य में दूसरे तीर्थंकर भगवान अजितनाथ स्वामी का महाकल्याणकारी जाप अनुष्ठान का आखिरी आयोजन विशाल जनमेदिनी की उपस्थिति में हुआ जिसमें चेन्नई , हैदराबाद, जलगॉंव, वर्धा सहित बेंगलूरु के विभिन्न उपनगरों से बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने भाग लिया। गुरु दिवाकर केवल कमला वर्षावास समिति के तत्वावधान में साध्वीश्री के मंगलाचरण वाचन पश्‍चात विभिन्न लाभार्थी परिवारों के सदस्यों एवं समिति के पदाधिकारियों द्वारा विधिवत चौकी, थाली व कलश की स्थापना की गई। करीब 30 मिनट तक सामूहिक रुप से जाप किया गया। डॉ. कुमुदलताजी ने गुरु चरणों में श्रद्धा के पुष्प अर्पित करते हुए कहा गुरु नीर, गुरु नदियॉं, गुरु सागर, गुरु विचार हैं।

उपस्थित साध्वीगण

उन्होंने चातुर्मास में आयोजित विभिन्न अनुष्ठानों की महिमा बताते हुए कहा कि घर-परिवार, संघ-समाज तथा देश-दुनिया में शांति के लिए ऐसे अनुष्ठान महामंगलकारी सिद्ध होते हैं्। उन्होंने अनुष्ठान को मुक्तिमार्ग का अनुपम द्वार बताते हुए कहा कि इससे पतितों का उद्धार होता है और आध्यात्मिक तथा भौतिक सुख संपदा की प्राप्ति होती हैं। अनुष्ठान से समस्त मनोवांछित अभिलाषायें यथा समय पूर्णता को प्राप्त होती है। अनुष्ठान की आराधना से व्यक्ति के जीवन के सभी अहंकार भी मिट जाते हैं।

साथ ही उन्होंने चातुर्मास में मोक्षद्वार का मार्ग खोलने वाले अनुष्ठान आराधना करने वाले सभी श्रद्धालुओं की खूब अनुमोदना भी की और कहा गुरु गुणस्मरण से अनंत कर्मों की निर्जरा व आत्मा निर्मल पवित्र बनती है । इसी प्रकार इस अंतिम अनुष्ठान से चातुर्मास में आयोजित जाप अनुष्ठान की सानंद पूर्णाहुति हुई्। साध्वीश्री ने सभी श्रद्धालुओं को जीवनपर्यंत किसी की भी निंदा नहीं करने के प्रत्याख्यान दिलाए एवं मंगलपाठ प्रदान किया। साध्वी महाप्रज्ञाजी ने मधुर आवाज़ में स्तवन की प्रस्तुति दी।

पशु एम्बुलेन्स भेंट की

एनिमल राइट फंड को एम्बुलेन्स की चाबी सौंपते हुए पदाधिकारी

इस अवसर पर एनिमल राइट फंड संस्था के दिलीप बाफ़ना एवं नारंगीबाई बाफ़ना का उनकी अमूल्य सेवाओं के लिए समिति की ओर से अभिनंदन किया गया और घायल पशुओं के उपचार हेतु गुप्त परिवार की ओर से उन्हें एक पशु-एम्बुलेन्स भेंट की गयी। इसी मौके पर आगामी 8 दिसम्बर को पुणे में श्रमणसंघीय आचार्यश्री डॉ शिवमुनिजी व उपाध्यायश्री रवींद्रमुनिजी व रमणीकमुनिजी म सा के सान्निध्य में दीक्षा लेने वाली दीक्षार्थी सिमरन जैन एवं प्रीति जैन का महिला समिति की सूरजबाई कोठारी, प्रभा ख़ाबिया, रंजना गोलेछा, सरला दुग्गड़, कलावती दरड़ा व अन्य ने अभिनंदन किया। प्रचार प्रसार मंत्री नेमीचंद दलाल ने बताया कि साध्वीवृंद के सान्निध्य में 8 नवम्बर को मॉं पद्मावती एकासन आराधना समापन समारोह, 9 नवम्बर सामूहिक गुरु गान प्रतियोगिता तथा 10 नवम्बर को बेंगलूरु में विराजित सभी संत सतीवृंद के सान्निध्य में जैन दिवाकर चौथमलजी म सा के जन्मोत्सव एवं आगामी 24 नवम्बर को दोड्डनिकुंदी गौशाला में गुरु केवल स्मारक का विशाल उद्घाटन एवं पैंसठिया छंद जाप अनुष्ठान आयोजित होगा।

लाभार्थियों का किया सम्मान

उपस्थित पुरुष श्रद्धालु

इस अवसर पर अनुष्ठान के लाभार्थी परिवार के सदस्यों, आगंतुक अतिथियों का समिति के पदाधिकारियों धर्मेंद्र मरलेचा, चेतन दरड़ा, नथमल मुथा, गुलाबचंद पगारिया, रमेश सिसोदिया, अशोक गादिया, शांतिलाल सांड़, जंबुकुमार दुग्गड,निर्मल चोरड़िया, रोशनलाल बाफ़ना, प्रकाश डोसी, महावीर रूणवाल, गौतमधारीवाल, उत्तमचंद कोठारी, धर्मीचंद बोहरा, युवा अध्यक्ष राजेश गोलेछा, मंत्री किशोर बाफ़ना व अन्य द्वारा सम्मान किया गया। सभा का संचालन करते हुए समिति के महामंत्री चेतन दरड़ा ने बताया कि शुक्रवार को मॉं पद्मावती एकासन आराधना का समापन समारोह एवं साध्वीवृंद का प्रवचन होगा। सभी श्रद्धालुओं का आभार सहमंत्री अशोक रांका ने जताया।

उपस्थित महिला श्रद्धालु