माता अमृतानंदमयी
माता अमृतानंदमयी

तिरुवनंतपुरम/भाषा। आध्यात्मिक गुरु माता अमृतानंदमयी ने एक बार इस्तेमाल होने वाली प्लास्टिक के खिलाफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किए गए अभियान का बृहस्पतिवार को स्वागत किया और इस पहल के लिए लोगों से सक्रिय सार्वजनिक समर्थन मांगा।

एक बयान में माता अमृतानंदमयी ‘अम्मा’ ने कहा कि अमृतानंदमयी मठ ने अपने सभी संस्थानों में एक बार इस्तेमाल होने वाली प्लास्टिक को हटाना शुरू कर दिया है।

इसके अनुसार, हम सभी को प्रधानमंत्री के अभियान का समर्थन करना चाहिए। प्रकृति मां ने हमेशा हमारे प्रति सिर्फ प्यार और करुणा को दर्शाया है जबकि हमने उन्हें हर तरह से कुचला है और उनकी छाती पर वार किया है। अब वह बीमार हो गई है।

माता अमृतानंदमयी को उनके भक्त प्यार से ‘अम्मा’ कहकर बुलाते हैं। उन्होंने कहा, अगर हमने अपने तरीकों को नहीं बदला और यही दोहराते रहे तथा नुकसान पहुंचाते रहे तो उनके (प्रकृति के) पास प्रतिक्रिया देने के सिवा कोई विकल्प नहीं होगा।

उन्होंने कहा कि एक बार इस्तेमाल होने वाली प्लास्टिक को चरणबद्ध तरीके से हटाने का उनके मठ का प्रयास इसके जारी पर्यावरण कार्यक्रमों का ही विस्तार है, जिसमें पौधारोपण, गरीबों के लिए शौचालय का निर्माण, सार्वजनिक स्थानों की सफाई और शहरी स्थानों में ‘सघन वन’ के निर्माण के लिए नई परियोजना ‘अमृतावनम’ शामिल हैं।

महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के अवसर पर बुधवार को अहमदाबाद में आयोजित ‘स्वच्छ भारत दिवस’ कार्यक्रम में मोदी ने कहा था कि प्लास्टिक पर्यावरण के लिए एक बड़ा खतरा है और देश को 2022 तक एक बार इस्तेमाल होने वाली प्लास्टिक से मुक्त करने के लक्ष्य को हासिल करना होगा।