रिलायंस जियो
रिलायंस जियो

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। रिलायंस जियो उपभोक्ताओं को अब मुफ्त आउटगोइंग कॉल सुविधा नहीं मिल पाएगी। जियो यूजर्स को नॉन जियो कॉलिंग पर शुल्क चुकाना होगा। दरअसल रिलायंस जियो ने कहा है कि किसी दूसरे नेटवर्क पर कॉलिंग की सूरत में जियो उपभोक्ताओं को प्रति मिनट के छह पैसे चुकाने होंगे। हालांकि यह जियो से जियो और लैंडलाइन मुफ्त रहेगा।

वहीं, जियो ने कहा है कि इतने मूल्य का डेटा उपभोक्ता को मुफ्त मुहैया कराया जाएगा। कंपनी ने एक बयान में कहा कि अगर जियो उपभोक्ता दूसरे मोबाइल नेटवर्क पर कॉलिंग करते हैं तो एडिशनल आईयूसी टॉप अप कराना होगा। यह 10 अक्टूबर से ही लागू हो जाएगा।

बता दें कि टेलीकॉम क्षेत्र में काफी समय से इंटरकनेक्टर यूजेज चार्ज (आईयूसी) का मुद्दा छाया रहा है। रिलायंस की मांग है कि ट्राई इस शुल्क को हटा दे। ऐसे में जियो यूजर्स को नॉन जियो कॉलिंग करने पर पैसे देने होंगे। जियो का कहना है कि ट्राई द्वारा जब तक टर्मिनेशन चार्ज शून्य नहीं किए जाते, उपभोक्ताओं से उक्त कॉलिंग का शुल्क वसूला जाएगा। यह तारीख एक जनवरी 2020 तक बताई गई है।

एक रिपोर्ट के अनुसार ट्राई ने साल 2017 में आईयूसी में कटौती कर इसे 14 पैसे से 6 पैसे किया था। साथ ही यह कहा गया था कि इसे जनवरी 2020 तक हटाया जाएगा।