वरिष्ठ कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद एवं राशिद अल्वी
वरिष्ठ कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद एवं राशिद अल्वी

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की करारी हार के बाद अध्यक्ष पद से राहुल गांधी के इस्तीफे को लेकर पार्टी के दो वरिष्ठ नेता आमने-सामने हैं। सलमान खुर्शीद की एक टिप्पणी से उनकी ही पार्टी के नेता राशिद अल्वी खफा हो गए और उन्हें ‘घर में आग लगाने वाला’ करार ​दे दिया।

सलमान खुर्शीद ने एक समाचार एजेंसी को दिए बयान में कहा था कि लोकसभा चुनाव में हार के बाद राहुल गांधी के इस्तीफे से संकट बढ़ गया। उन्होंने कहा, हमारी सबसे बड़ी समस्या यही है कि हमारे नेता (राहुल गांधी) हमें छोड़कर चले गए। खुर्शीद ने कहा कि कांग्रेस की जो स्थिति है, उसमें महाराष्ट्र और हरियाणा चुनाव जीतने की संभावना नहीं है।

इस पर राशिद अल्वी ने कड़ी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को अब बाहर के दुश्मन की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि इस समय जब भाजपा से मुकाबले के लिए पार्टी को एकजुट होना चाहिए, तब हर जगह से अलग-अलग सुर सुनाई पड़ रहे हैं। उन्होंने कांग्रेस नेतृत्व और कार्यकर्ताओं को मिलकर काम करने की जरूरत पर जोर दिया।

इस दौरान उन्होंने खुर्शीद के बयान पर कहा, ‘घर को आग लग गई घर के ही चिराग से।’ उन्होंने हरियाणा में कांग्रेस के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर के इस्तीफे और महाराष्ट्र में पार्टी नेता संजय निरुपम के बागी बोल पर कहा कि ऐसा लग रहा है कि आज हमें बाहर के दुश्मनों की जरूरत नहीं रह गई है।

बता दें कि हरियाणा और महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव से पहले प्रदेश कांग्रेस इकाइयों में फूट सामने आ चुकी है। हरियाणा में अशोक तंवर ऐलान कर चुके हैं कि कांग्रेस प्रत्याशियों को हराने के लिए पूरा जोर लगाएंगे ताकि यह पार्टी पांच से ज्यादा पर सीटों पर जीत हासिल न कर सके। उधर, संजय निरुपम ने बागी तेवर अपनाते हुए कहा कि वे कांग्रेस का प्रचार नहीं करेंगे। उन्होंने दावा किया कि विधानसभा चुनाव में तीन-चार सीटों को छोड़कर बाकी ज्यादातर जगह कांग्रेस की जमानत जब्त ​हो जाएगी।