पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह

चंडीगढ़/दक्षिण भारत। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह करतारपुर कॉरिडोर के माध्यम से जाने वाले पहले जत्थे में शामिल होंगे। वे वहां करतारपुर साहिब गुरुद्वारे के दर्शन करेंगे। मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, वे करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन समारोह में शिरकत करने पाकिस्तान नहीं जाएंगे।

इससे पहले अमरिंदर सिंह ने भी स्पष्ट कर दिया था कि वे उद्घाटन समारोह में हिस्सा नहीं लेंगे। कार्यालय द्वारा दी गई जानकारी में बताया गया है कि पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने भी जत्थे में शामिल होने के लिए सहमति प्रदान की है।

बता दें कि इससे पहले, अमरिंदर सिंह ने कहा था कि उनके पाकिस्तान जाने का तो सवाल ही पैदा नहीं होता। उन्होंने डॉ. मनमोहन सिंह के लिए कहा था कि मुझे लगता है, डॉ. सिंह भी नहीं जाएंगे। अमरिंदर सिंह ने कॉरिडोर के जरिए सिर्फ गुरुद्वारा जाने की बात कही।

पाकिस्तान जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि वे तब तक वहां नहीं जाएंगे जब तक कि यह पड़ोसी मुल्क सीमापार आतंकवाद को बंद नहीं करता। मुख्यमंत्री ने कहा कि पाकिस्तान के सीमापार आतंकवाद की वजह से सबसे ज्यादा दिक्कतों का सामना पंजाब को करना पड़ता है। ऐसे में जब तक पाकिस्तान इन सबको बंद नहीं करता, वे वहां जाने की सोच भी नहीं सकते।

गौरतलब है कि अमरिंदर सिंह ने गुरुवार को डॉ. मनमोहन सिंह से मुलाकात की और करतारपुर साहिब गुरुद्वारा जाने वाले पहले सर्वदलीय जत्थे में शामिल होने का अनुरोध किया। पूर्व प्रधानमंत्री ने यह अनुरोध स्वीकार कर लिया। अमरिंदर सिंह ने बताया कि डॉ. मनमोहन सिंह सर्वदलीय जत्थे का नेतृत्व करेंगे। जत्था नौ नवंबर को करतारपुर जाएगा।