प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर
प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर

नई दिल्ली/भाषा। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने देश के असेवित एवं आकांक्षी जिलों में 75 नए मेडिकल कॉलेज खोलने के प्रस्ताव को बुधवार को मंजूरी दे दी। इस पर 24 हजार करोड़ रुपए से अधिक राशि का निवेश होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में इस आशय के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई।

बैठक के बारे में केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने संवाददाताओं को बताया कि कैबिनेट ने 75 नए मेडिकल कॉलेज खोलने का निर्णय किया। इससे एमबीबीएस की 15,700 नई सीटें सृजित होंगी। उन्होंने बताया कि ये सभी मेडिकल कॉलेज ऐसे स्थानों पर खोले जाएंगे, जहां पहले से कोई चिकित्सा कॉलेज नहीं है और असेवित एवं आकांक्षी जिले हैं जो विकास में पिछड़ गए हैं।

इस प्रस्ताव पर अमल में 24,375 करोड़ रुपए की लागत आएगी और इन कॉलेजों की स्थापना 2021-22 तक की जानी है। जावड़ेकर ने बताया कि पिछले पांच वर्षों में पीजी और एमबीबीएस की 45 हजार सीटें जोड़ी गई हैं और इस अवधि में 82 मेडिकल कॉलेजों को मंजूरी दी गई थी।

सूचना एवं प्रसारण मंत्री ने कहा कि इससे लाखों की संख्या में गरीबों एवं ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले लोगों को लाभ होगा और देहातों एवं ग्रामीण इलाकों में डाक्टरों की उपलब्धता बढ़ेगी। जावड़ेकर ने जोर दिया कि मेडिकल शिक्षा के क्षेत्र में दुनिया के किसी देश में यह बड़ा विस्तार है। उन्होंने इसे मोदी सरकार की महत्वपूर्ण उपलब्धि बताया।