rakesh asthana cbi
rakesh asthana cbi

नई दिल्ली। सीबीआई में शीर्ष अधिकारियों के ​बीच छिड़ी जंग मंगलवार को न्यायालय पहुंच गई। सीबीआई के विशेष निदेशक राकेश अस्थाना रिश्वतखोरी के आरोप लगाकर खुद के खिलाफ दर्ज कराई गई एफआईआर के मामले को दिल्ली उच्च न्यायालय लेकर गए। उन्होंने न्यायालय से कथित रिश्वतखोरी के मामले में कोई बलपूर्वक कार्रवाई न किए जाने और एफआईआर रद्द करने की मांग की। न्यायालय ने अस्थाना को राहत देते हुए सोमवार तक उनकी गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है। न्यायालय ने आदेश दिया है कि इस मामले से जुड़े सभी सबूत सुरक्षित रखे जाएं। अब अगली सुनवाई 29 अक्टूबर को होगी।

न्यायालय ने कहा ​है कि इस अवधि में आरोपी अफसर के मोबाइल फोन और लैपटॉप जब्त कर लिए जाएं। सीबीआई की ओर से उपस्थित वकील ने कहा कि आरोपी अफसर के खिलाफ भ्रष्टाचार के गंभीर मामले हैं। दूसरी ओर राकेश अस्थाना के वकील ने उनके खिलाफ दर्ज की गई एफआईआर को रद्द करने की मांग की। हालांकि न्यायालय ने याचिका खारिज कर दी।

इसके अलावा सीबीआई ने गिरफ्तार किए गए अपने डीएसपी देवेंद्र कुमार को दिल्ली की एक अदालत में पेश कर 10 दिन का रिमांड मांगा है। सीबीआई ने कहा कि देवेंद्र के दफ्तर और घर पर छापे मारे गए​ जहां कई अहम सुराग हाथ लगे हैं। वहीं देवेंद्र के वकील ने पटियाला हाउस कोर्ट में जमानत अर्जी दाखिल की है। सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा और दूसरे नंबर की हैसियत रखने वाले राकेश अस्थाना के बीच झगड़ा सुर्खियों में है। राकेश अस्थाना के खिलाफ सीबीआई ने 3 करोड़ रुपए की रिश्वत का आरोप लगाकर मामला दर्ज कराया है।

अस्थाना पर आरोप है कि उन्होंने कारोबारी मोईन कुरैशी से रिश्वत में यह राशि ली है। इस मामले में एक अन्य अधिकारी देवेंद्र कुमार को गिरफ्तार किया गया। आमतौर पर दफ्तरों में अफसरों की अनबन इतने बड़े स्तर पर सामने नहीं आती। जब सीबीआई में शीर्ष अधिकारियों पर गंभीर आरोप लगे तो लोगों ने भी इस पर सवाल उठाए।

देवेंद्र कुमार की गिरफ्तारी के बाद कई जगह छापे मारे गए। हालांकि सीबीआई ने इस बात का खुलासा नहीं किया कि छापे के दौरान उसके हाथ किस तरह के सबूत लगे हैं। कथित रिश्वतखोरी के इस मामले में कई लोगों के नाम सामने आए हैं। कारोबारी कुरैशी के अलावा हैदराबाद के सतीश सना का नाम चर्चा में है जिसके खिलाफ राकेश अस्थाना जांच कर रहे थे।

ये भी पढ़िए:
– वो मंडी जहां आलू-गोभी की तरह बिकते हैं पिस्टल और खतरनाक हथियार, किलो के भाव गोलियां!
– शादी में दहेज पर बिगड़ी बात, लड़की वालों ने दूल्हे का कर दिया मुंडन!
– केरल नन दुष्कर्म मामले में बिशप के खिलाफ बयान देने वाले अहम गवाह की मौत, गहराया रहस्य
– फरार हुए दशहरा कार्यक्रम आयोजक ने जारी किया वीडियो, रोते हुए बोला- मेरी क्या गलती?

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

fifteen − nine =