रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

पोखरण/दक्षिण भारत। परमाणु हमले की गीदड़भभकी देकर अक्सर गैर-जिम्मेदार देश होने का प्रदर्शन करने वाले पाकिस्तान को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को संकेतों में चेतावनी दे दी है। सिंह ने कहा कि भारत परमाणु हथियारों के ‘पहले इस्तेमाल नहीं’ करने की नीति पर अभी कायम है लेकिन भविष्य में क्या होता है यह परिस्थितियों पर निर्भर करता है।

राजनाथ सिंह पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की पहली पुण्यतिथि पर राजस्थान के जैसलमेर जिले में स्थित पोखरण पहुंचे। उन्होंने यहां स्व. वाजपेयी को नमन किया। इस अवसर पर उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री द्वारा पोखरण परमाणु परीक्षण जैसे साहसिक फैसलों को याद किया।

राजनाथ सिंह ने ट्वीट किया, पोखरण वह स्थान है जो अटलजी के परमाणु शक्ति बनने के दृढ़ संकल्प का गवाह बना था और अभी भी हम ‘पहले इस्तेमाल नहीं’ के सिद्धांत को लेकर प्रतिबद्ध हैं। भारत इस सिद्धांत का कड़ाई से पालन करता है। भविष्य में क्या होता है, यह परिस्थितियों पर निर्भर करता है।

रक्षा मंत्री ने पांचवीं अंतरराष्ट्रीय आर्मी स्काउट मास्टर्स प्रतियोगिता के समापन समारोह को संबोधित किया। उन्होंने एक फेसबुक पोस्ट में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि देते हुए लिखा, अटलजी भारतीय राजनीति के ऐसे युगपुरुष थे जिन्होंने मूल्यों एवं आदर्शों के साथ शुचिता और सुशासन की राजनीति को बढ़ावा दिया। ‘सबका साथ, सबका विश्वास’ का उनका भाव आज भी हम सबके लिए प्रेरणा है। ‪अटलजी की प्रथम पुण्यतिथि पर मैं उन्हें नमन करते हुए अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं।

बता दें कि पाकिस्तान के कई मंत्री, अधिकारी, पूर्व सैनिक, कथित रक्षा विशेषज्ञ अक्सर मीडिया में भारत विरोधी बयान देते हुए परमाणु युद्ध की गीदड़भभकी देते रहते हैं। आईएसआई के इशारे पर चलने वाले कई ट्विटर भी हैंडल परमाणु युद्ध की वकालत करते हैं।

Facebook Comments