क्वीतोवा को बाहर कर वीनस ने दिखाया दम

क्वीतोवा को बाहर कर वीनस ने दिखाया दम

न्यूयॉर्क। अमेरिका की वीनस विलियम्स ने अपनी शानदार लय को बरकरार रखते हुए यहां यूएस ओपन टेनिस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया जहां उनका मुकाबला हमवतन स्लोएन स्टीफंस से होगा। ३७ साल की अनुभवी खिला़डी ने महिला एकल क्वार्टरफाइनल मुकाबले में १५४ मिनट में क्वीतोवा की चुनौती को ६-३, ३-६, ७-६ से तो़डते हुए नौ वर्षों के बाद अपना पहला ग्रैंड स्लैम जीतने की उम्मीदों को कायम रखा। वीनस ने वर्ष २००८ में विंबलडन में अपना आखिरी ग्रैंड स्लैम जीता था। वर्ष २००० और २००१ में यूएस ओपन खिताब जीत चुकी वीनस ने पहले सेट में १-३ से पिछ़डने के बाद दो बार क्वीतोवा की सर्विस ब्रेक करते हुए पहला सेट जीता लेकिन दूसरे सेट में चेक खिला़डी ने वापसी कर ली जो गत वर्ष चाकू के हमले के बाद कोर्ट पर फिर से वापसी कर रही हैं। हालांकि वह निर्णायक टाईब्रेक में आठ बार की ग्रैंड स्लैम विजेता का मुकाबला नहीं कर सकीं जिन्होंने आर्थर एश स्टेडियम में भारी घरेलू समर्थन के साथ सेट और मैच जीत लिया।पूर्व नंबर एक खिला़डी ने कहा, क्वीतोवा ने जो भी सहा है वह अविश्वसनीय है। मुझे उन्हें वापस देखकर बहुत खुशी महसूस हो रही है। मैं भाग्यशाली हूं कि यह मैच जीत सकी। वीनस को लेकिन अब फाइनल में जगह बनाने के लिए हमवतन १६वीं सीड स्टीफंस का सामना करना होगा। पैर में चोट के कारण करीब एक वर्ष बाद वापसी कर रही स्टीफंस ने लात्विया की एनास्तासिजा सेवासोवा को तीन सेटों के संघर्ष में ६-३, ३-६, ७-६ से हराकर अंतिम चार में प्रवेश कर लिया। वह वर्ष २००४ के बाद से विलियम्स बहनों सेरेना और वीनस के बाद पहली अमेरिकी खिला़डी भी बन गई हैं जिन्होंने यूएस ओपन सेमीफाइनल में जगह बनाई है। वीनस और स्टीफंस में से हालांकि कोई एक ही फाइनल का टिकट हासिल कर पाएगा।पुरुषों के ड्रा में स्पेन के पाब्लो कारीनो बुस्ता ने भी पहली बार ग्रैंड स्लैम सेमीफाइनल में जगह बना ली। उन्होंने अर्जेंटीना के डिएगो श्वाट्जमैन को ६-४, ६-४, ६-२ से लगातार सेटों में हराया और दो घंटे से भी कम समय में जीत अपने नाम कर ली। बुस्ता ने मैच में ३० विनर्स लगाए और उन्होंने अभी तक एक भी सेट नहीं गंवाया है। स्पेनिश खिला़डी के सामने अगले दौर में अब दक्षिण अफ्रीका के छह फुट आठ इंच लंबे खिला़डी केविन एंडरसन की चुनौती रहेगी। एंडरसन ने अपने अंतिम आठ मुकाबले में घरेलू खिला़डी सैम क्वेरी को मैराथन मैच में ७-६, ६-७, ६-३, ७-६ से मात दी और कैरियर में पहली बार ग्रैंड स्लैम सेमीफाइनल में पहुंचे। उन्होंने तीन घंटे २६ मिनट में मुकाबला जीता और मैच में २२ एस तथा ६७ विनर्स लगाए।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Advertisement

Latest News

विधानसभा चुनावों में जीत की हैट्रिक, लोकसभा चुनाव में भाजपा के ‘हैट्रिक की गारंटी’ : मोदी विधानसभा चुनावों में जीत की हैट्रिक, लोकसभा चुनाव में भाजपा के ‘हैट्रिक की गारंटी’ : मोदी
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने चार राज्यों के विधानसभा चुनाव के नतीजों को आगामी लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा)...
घुसपैठ पर लगाम
पाक-बांग्लादेश सीमाओं पर खुली जगहों को अगले दो साल में पाट दिया जाएगा: शाह
कतर में फांसी की सजा पाए पूर्व नौसैनिकों के बारे में क्या बोले नौसेना प्रमुख?
जनता के पास अब भी 2,000 रुपए के इतने नोट मौजूद!
जम्मू-कश्मीर: मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा का आतंकवादी ढेर
बेंगलूरु के स्कूलों को ईमेल से मिली बम विस्फोट की धमकी