रजवाड़ों को बंदर कह फंसे रावल

रजवाड़ों को बंदर कह फंसे रावल

राजकोट। जाने माने फिल्म अभिनेता तथा भाजपा सांसद परेश रावल ने रजवा़डों की तुलना बंदरों से करने के अपने विवादास्पद बयान पर सफाई देते हुए कहा कि उन्होंने राजपूतों को नहीं बल्कि बंदर की तरह उछल कर पाकिस्तान की गोद में बैठ जाने वाले हैदराबाद के निजाम को लक्ष्य कर ऐसा कहा था।उन्हांेने कहा कि इसके बावजूद अगर उनके बयान से राजपूत समाज की भावना को जरा भी ठेस पहुंची है तो उन्हें इसके लिए खेद है और माफी मांगते हैं। रावल ने यहां भाजपा के चुनाव कार्यालय के उद्घाटन के दौरान अपने संबोधन में कहा था कि सरदार पटेल ने देश को एक करने के लिए बंदर जैसे रजवा़डों को एक कर दिया था। इसके तत्काल बाद पद्मावती फिल्म के व्यापक विरोध के चलते चर्चा में आई राजपूत करणी सेना ने उनका पुतला जलाने के कार्यक्रम की घोषणा कर दी पर रावल ने तुरंत संवाददाता सम्मेलन बुला कर स्पष्टीकरण दिया। उन्होंने कहा कि उन्होंने हैदराबाद के निजाम को लक्ष्य कर यह बात कही थी। राजपूत देश के गौरव है और उनके बारे में वह ऐसा बयान दे ही नहीं सकते।गुजरात की चुनावी गहमागहमी के बीच रावल ने विरोधियों के मोदी के थूक से तिलक करने का विवादास्पद बयान भी दिया था। उन्होंने सुरेन्द्रनगर की एक सभा में कहा था कि कोई भी मोदी की ईमानदारी और देशभक्ति पर संदेह नहीं कर सकता। रावल ने आज मन की बात चाय के साथ कार्यक्रम के बाद कहा कि मोदी को किसी फिल्म स्टार की जरूरत नहीं है वह खुद ही सबसे ब़डे सुपरस्टार हैं।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List