भारतीय जनता पार्टी
भारतीय जनता पार्टी

भोपाल। मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनावों की तारीख नजदीक आने के साथ ही उम्मीदवारों की धड़कनें बढ़ती जा रही हैं। इस बार भाजपा के सामने जहां एक बार फिर अच्छा प्रदर्शन कर जीत का सिलसिला जारी रखने का दबाव है, वहीं कांग्रेस भी अपना वनवास खत्म करना चाहती है। इस बीच एक सर्वे के नतीजों के मुताबिक, यहां भाजपा एक बार फिर सत्ता में वापसी कर सकती है। 230 सीटों के निर्वाचन में वह 122 पर जीतकर चौथी बार विधानसभा में कमल खिला सकती है।

सीएनएक्स द्वारा टाइम्स नाउ के लिए किए गए इस सर्वे के मुताबिक, कांग्रेस के प्रदर्शन में थोड़ा सुधार हो सकता है लेकिन यह उसे सत्ता तक पहुंचा देने के लिए काफी नहीं है। वह विधानसभा में 95 सीटों तक पहुंच सकती है। सर्वे कहता है​ कि वर्ष 2013 के विधानसभा चुनावों के मुकाबले इस बार कांग्रेस के वोट शेयर में 2 प्रतिशत तक इजाफा हो सकता है।

कांग्रेस पर बढ़त बरकरार
सर्वे के आंकड़े बताते हैं कि भाजपा के वोट शेयर में करीब 3 प्रतिशत तक कमी आ सकती है, लेकिन इसके बावजूद कांग्रेस पर उसकी बढ़त बरकरार रहेगी और वह विधानसभा में सरकार बनाने की स्थिति में पहुंच जाएगी। विधानसभा चुनावों में बसपा तीन सीटों पर जीत दर्ज कर सकती है। वहीं 10 सीटों पर अन्य बाजी मार सकते हैं।

सर्वे के ये नतीजे 25 अक्टूबर से 3 नवंबर के बीच हासिल किए गए आंकड़ों पर आधारित हैं। विश्लेषकों के मुताबिक, 28 नवंबर को होने जा रहे विधानसभा चुनावों में इस बार कांटे की टक्कर होगी। भारतीय जनता पार्टी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के चेहरों को आगे कर चुनाव मैदान में उतरी है। दूसरी ओर कांग्रेस राहुल गांधी और स्थानीय नेतृत्व के जरिए भाजपा को घेरने की कोशिश में जुटी है।

शिवराज पहली पसंद
सर्वे में जो बात सबको चौंकाती है वह मुख्यमंत्री का नाम है। यहां आज भी काफी लोग शिवराज को पसंद कर रहे हैं और इस पद के पसंदीदा उम्मीदवारों में वे अव्वल हैं। सर्वे में 40 प्रतिशत से ज्यादा लोगों ने उन्हें अपनी पसंद बताया है। सर्वे में दूसरे स्थान पर वरिष्ठ कांग्रेस नेता कमलनाथ हैं। उन्हें सिर्फ 20.3 प्रतिशत लोगों ने पसंद किया है। इस तरह पहले और दूसरे स्थान के बीच काफी अंतर है। इस दौड़ में कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया कमलनाथ से ज्यादा दूर नहीं हैं। उन्हें 19.7 प्रतिशत लोगों का समर्थन मिला है। प्रदेश में 28 नवंबर को विधानसभा चुनाव होंगे। 11 दिसंबर को मतगणना होगी।

ये भी पढ़िए:
– अब चेहरा ही नहीं, चाल देखकर भी लोगों की पहचान करेगा चीन, तैयार कर ली तकनीक
– 96 साल की उम्र में साक्षरता परीक्षा में अव्वल आने वाली दादी मां को मिला लैपटॉप
– दो मुल्क, दो फैसले: पाकिस्तान को चीन से मिलेगा 6 अरब डॉलर का कर्ज, बांग्लादेश ने ठुकराया
– बिहार में छठव्रतियों को 6 हजार रु. मिलने की अफवाह, डाकघरों में उमड़ी भीड़ से कर्मचारी परेशान

LEAVE A REPLY