विचित्र ठगी: मारवाड़ी नस्ल बताकर बेचा काला घोड़ा, कालिख उतरी तो निकला सफेद

0

फरीदकोट। यह बात पढ़ने में किसी फिल्मी कहानी जैसी लग सकती है, पर है बिल्कुल सच। पंजाब के फरीदकोट में एक शख्स के साथ अजीब किस्म की धोखाधड़ी हो गई। उसकी इच्छा थी कि वह एक काला घोड़ा खरीदे। इसके लिए उसने काफी तलाश की। आखिरकार उसकी मुलाकात एक घोड़ा व्यापारी से हुई। उसने इस शख्स को काले रंग का घोड़ा दिखाया और कहा कि यह दुर्लभ मारवाड़ी नस्ल है। घोड़े का सौदा 17.5 लाख रुपए में हो गया।

घोड़ा खरीदकर वह शख्स बहुत खुश था। हर रोज उसके चारे और सेहत का खूब ध्यान रखता, लेकिन इस बीच एक ऐसी घटना हो गई जिससे उसके पैरों तले जमीन खिसक गई। दरअसल कुछ ही दिनों में घोड़े का रंग बदलने लगा। जो पहले एकदम काला था, वह रंग धुंधला पड़ता गया और धीरे-धीरे सफेद हो गया। उसे अब समझ में आया कि घोड़ा न तो काला था और न ही किसी दुर्लभ नस्ल का। उस पर काला रंग पोतकर धोखाधड़ी से यह सौदा किया गया।

अब पीड़ित शख्स थाने के चक्कर लगा रहा है। उसने आठ लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। जानकारी के अनुसार, करनबीर इंदर सिंह सेखों ने बताया है कि उसने मेवा सिंह और उसके आदमियों से नवंबर 2017 में यह घोड़ा खरीदा था। उसे काला घोड़ा दिखाया गया और उम्दा मारवाड़ी नस्ल का बताकर 24 लाख रुपए कीमत बताई गई। बाद में सौदा 17.5 लाख में पक्का हुआ।

करनबीर का कहना है कि कुछ दिन तक घोड़ा पूरी तरह काला था। फिर उसका रंग धुंधला पड़ने लगा और बाद में वह सफेद निकल आया। तब उसे मालूम हुआ कि उसके साथ ठगी हुई है। उसने मेवा सिंह से संपर्क किया तो वहां से कोई जवाब नहीं दिया गया। इसलिए उसने थाने में शिकायत दर्ज कराई।

पुलिस ने बताया कि शिकायत में मेवा सिंह के अलावा उसके माता-पिता का नाम भी है। आरोपियों की तलाश जारी है। बता दें कि पिछले दिनों उत्तर प्रदेश में भी ठगी का एक अजीब मामला सामने आया था। बकरा मंडी में कोई ठग काले कुत्ते को खूब सजाकर लाया और किसी व्यापारी को उसकी रस्सी थमा गया। इसके बदले वह उसका बकरा ले गया। बाद में मामले का भंडाफोड़ हुआ कि व्यापारी जिसे अब तक बकरा समझ रहा था, वह काला कुत्ता था।

ये भी पढ़िए:
– दुबई में रहने वाले भारतीय की खुली किस्मत, लगी 7 करोड़ की लॉटरी
– देर रात डोवाल ने संभाला मोर्चा, एक आदेश से हो गई वर्मा और अस्थाना की छुट्टी
– पेटीएम मामला: फिरौती के लिए दबाव बढ़ा रही थी सेक्रेटरी, सालाना तनख्वाह 70 लाख!
– बैंक एप के नाम पर हो रहा बड़ा फर्जीवाड़ा, चुटकियों में खाली हो सकता है खाता

LEAVE A REPLY