पाकिस्तानी फौज के अधिकारी एफ 16 विमान का मलबा देखते हुए।
पाकिस्तानी फौज के अधिकारी एफ 16 विमान का मलबा देखते हुए।

नई दिल्ली/वार्ता। कई बार वास्तविकता कल्पना से भी खतरनाक होती है और लोगों की मानसिकता को समझ पाना बहुत मुश्किल होता है क्योंकि भीड़ की कोई अपनी सोच नहीं होती है। इसी तरह की सोच वाली पाकिस्तानी भीड़ ने अपने एक पायलट की 27 फरवरी को पीट-पीट कर हत्या कर दी। यह दावा लंदन स्थित एक वकील उमर खालिद ने किया है। यह फेसबुक पोस्ट काफी वायरल हुई है और मीडिया में इसकी काफी चर्चा हो रही है।

उमर खालिद ने लिखा, जिस समय भारतीय पायलट अपने मिग विमान से पाकिस्तानी पायलट के एफ-१६ लड़ाकू विमान के साथ आकाश में लड़ रहे थे तो उसी दौरान दोनों के विमान गिर गये और भारतीय पायलट विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान तथा पाकिस्तानी पायलट शाहबाज पैराशूट से नीचे कूद गये थे। अभिनंदन तो ठीक-ठाक पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में उतर गये लेकिन कूदने के दौरान शाहबाज बुरी तरह घायल हो गया था और जिस समय वह नीचे गिरा तो बेहोश था और पाकिस्तानियोंं ने उसे भारतीय पायलट समझ कर लाठियों से पीट-पीट कर मार डाला।

उन्हें जब पता चला कि यह पाकिस्तानी है तो उसे अस्पताल ले लाया गया जहां शाहबाज की मौत हो गयी। खालिद ने लिखा, तो जब दो एयर मार्शलों के बहादुर बेटे बीच आकाश में एक-दूसरे से लड़ रहे थे, विंग कमांडर अभिनंदन अपने मिग विमान में थे और विंग कमांडर शाहबाज उद दीन अपने एफ-16 विमान में थे और दोनों ही नीचे गिर गये और एक को बचाया नहीं जा सका।उमर खालिद ने अपनी फेसबुक पोस्ट में आगे लिखा है कि दोनों पायलट विंग कमांडर स्तर के अधिकारी थे और उनमें एक समानता यह भी है कि उन दोनों के पिता अपनी अपनी वायु सेना से शीर्ष अधिकारियों के पदों से सेवानिवृत्त हुए थे।

शाहबाज के पिता पाकिस्तानी वायु सेना में एयर मार्शल पद से सेवानिवृत्त हुए थे। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी एक बार दो पायलटों का जिक्र किया थाा और संकेत दिये थे कि दो भारतीय पायलट पाकिस्तानी सेना के कब्जे में है। बाद में उन्होंने कहा था कि उनके पास एक ही पायलट है। इससे पहले भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने दिल्ली में इस बात की पुष्टि की थी कि एक भारतीय पायलट लापता है और वह विंग कमांडर अभिनंदन के बारे में ही बात कर रहे थे।

भारत ने यह भी पाकिस्तान को स्पष्ट किया था और पाकिस्तान के उच्चायुक्त को भी समन किया था कि पायलट को रिहा किया जाना चाहिए और सोशल मीडिया पर अभिनंदन के वीडियो तथा फोटोग्राफ दिखाए जाने की कड़ी निंदा की थी। गौरतलब है कि पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने 28 फरवरी को पाकिस्तानी संसद के एक संयुक्त सत्र को संबोधित करते हुए कहा था कि वह जंग नहीं चाहते हैं और शांति के एक कदम के तौर पर वह भारतीय पायलट को शुक्रवार को रिहा कर देंगे। अभिनंदन को कल पाकिस्तान ने रिहा कर भारतीय अधिकारियों को सौंप दिया था।

LEAVE A REPLY