नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यन स्वामी ने कहा है कि इसी वर्ष अक्टूबर तक अयोध्या में राम मंदिर बन जाएगा और इस बार दिवाली वहीं मनाया जाएगा। दिल्ली यूनिवर्सिटी के कॉन्फ्रेंस सेंटर में स्वामी ने कहा, ‘भगवान राम हमारे राष्ट्र्र की अवधारणा के प्रतीक हैं। हम इस वर्ष अयोध्या में ही दिवाली सेलिब्रेट करेंगे, क्योंकि हमें पूरी उम्मीद है कि इस मामले में जो सुनवाई हो रही है उसमें फैसला हमारे पक्ष में ही आएगा। कानूनी कार्यवाही शुरू हो चुकी है और हमारे द्वारा जो भी दस्तावेज और सबूत पेश किए गए हैं वह काफी ठोस और पुख्ता हैं।’
विश्‍व हिंदू परिषद के नेता अशोक स्वामी द्वारा आयोजित राष्ट्रीय सेमिनार में स्वामी को वक्ता के रूप में आमंत्रित किया गया था। इस सेमिनार में उन्होंने कहा, ‘सारे सबूतों को कोर्ट में एक बार और देखने की जरूरत है। इसमें बहस की कोई जरूरत नहीं है। राम मंदिर के निर्माण का काम अक्टूबर में शुरू हो जाएगा। हम इस दिवाली में वहां दिये जलाएंगे।’
अयोध्या मामले पर खुलकर बोलते हुए स्वामी ने कहा कि राम मंदिर और बाबरी मस्जिद तर्क महज भूमि विवाद है और इसमें किसी भी तरह का धार्मिक विवाद नहीं है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए सर्वोच्च न्यायालय हमारे पक्ष में फैसला सुनाएगा।’ इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इस्लाम मूर्ति पूजा का पक्षधर नहीं है, इसलिए मस्जिद को शिफ्ट किया जा सकता है। इसके अलावा उन्होंने बच्चों के पाठ्यक्रम में मौजूद इतिहास को बदलने की जरूरत होने की बात भी कही। उन्होंने कहा, हिंदू देश की अवधारणा को समायोजित करने के लिए इतिहास के पाठ्यक्रम को बदलने की जरूरत है।’

LEAVE A REPLY