लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि राज्य सरकार के लिए किसानों का हित सर्वोपरि है और उनकी आय ब़ढाने के लिए हर सम्भव कदम उठाने के लिए प्रतिबद्ध है। योगी ने कहा कि किसानों को उनकी उपज का लाभकारी मूल्य दिलाने में मण्डियों की ब़डी भूमिका है। इसलिए मण्डियों की कार्यप्रणाली सरल, पारदर्शी, भ्रष्टाचारमुक्त, तकनीक आधारित एवं किसान फ्रेण्डली होनी चाहिए। मण्डी परिषद द्वारा दिए जाने वाले अनुदानों का लाभ किसानों को मिलना चाहिए, न कि बिचौलियों को। मण्डी परिषद द्वारा ऐसी व्यवस्था की जानी चाहिए कि किसान मण्डी में आने के लिए प्रोत्साहित हो। सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि यह बातें मुख्यमंत्री ने राज्य कृषि उत्पादन मण्डी परिषद के संचालक मण्डल की १५४वीं बैठक में कही। उन्होंने कहा कि मण्डी परिषद द्वारा स्थायी परिसम्पत्तियों के निर्माण पर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए। मण्डी परिषद आवश्यकता को ध्यान में रखकर नई मण्डियों का निर्माण करायें। परिषद द्वारा कृषि विश्वविद्यालयों में छात्रावासों के निर्माण की सम्भावनाओं की जांच कर छात्रावास बनाए जाएं, ताकि इन संस्थानों में अध्ययनरत विद्यार्थियों को अपनी प़ढाई पूरी करने में सहूलियत हो। उन्होंने मण्डियों में नियमित साफ-सफाई के लिए भी अधिकारियों को निर्देशित किया।

LEAVE A REPLY