सांकेतिक चित्र
सांकेतिक चित्र

सरदारशहर/दक्षिण भारत। राजस्थान में चूरू जिले की सरदारशहर पुलिस पर एक महिला ने गंभीर आरोप लगाए हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार, महिला का कहना है कि पुलिसकर्मियों ने उसे हिरासत में रखकर मारपीट की और दुष्कर्म किया। दरअसल महिला के देवर को चोरी के मामले में पुलिस ने गिरफ्तार किया था। इस दौरान उसकी मौत हो गई। महिला का आरोप है कि पुलिसकर्मियों ने उसे भी हिरासत में रखा और उसके साथ ज्यादती हुई।

पुलिस ने सोनपालसर के निवासी नेमीचंद नायक को छह जुलाई को चोरी के मामले में हिरासत में लिया था। उसी रात  आरोपी की तबीयत बिगड़ गई और उसने दम तोड़​ दिया। पुलिस के अनुसार, युवक को बेचैनी महसूस हुई थी, जिसके बाद उसे अस्पताल ले जाया गया। वहां एक घंटे बाद उसकी मौत हो गई। प्रारंभिक जांच के अनुसार, आरोपी की मौत का कारण हृदय गति रुकना है।

दूसरी ओर, मृतक के परिजनों ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि नेमीचंद की मौत पुलिस हिरासत में हो गई थी। आखिर में परिजन न्यायिक मजिस्ट्रेट जांच के आश्वासन पर माने। वहीं, रिपोर्ट में बताया गया है कि पुलिस ने सख्ती बरती और रात 10 बजे मृतक का अंतिम संस्कार करवाया, जबकि परंपराओं के अनुसार रात को कभी अंतिम संस्कार नहीं किया जाता।

इन आरोपों से मचा हड़कंप
नेमीचंद की भाभी ने आरोप लगाया कि पुलिस ने उसे हिरासत में रखा और बर्बर सलूक किया। हालांकि तत्कालीन थानाधिकारी रणवीर सिंह उक्त महिला को हिरासत में लिए जाने के आरोपों को खारिज करते हैं।

रिपोर्ट के अनुसार, मामले में नया मोड़ तब आया जब 10 तारीख को महिला के ससुर ने चूरू-बीकानेर आईजी जोस मोहन को ज्ञापन सौंपा और उसके गायब होने की बात कही। अगले दिन महिला घर पहुंची लेकिन उसकी हालत गंभीर थी। उसे जयपुर के अस्पताल में भर्ती कराया गया।

महिला ने आरोप लगाया कि सरदारशहर थाना पुलिस चोरी के मामले में उसके देवर के साथ उसे भी ले गई। उसने कहा कि थाने में पांच-छह पुलिसकर्मी शराब पीकर उसके साथ मारपीट करते थे। महिला ने कहा कि पुलिसकर्मियों ने तीन दिन तक बांधकर और लटकाकर पिटाई की।

सख्त कार्रवाई की मांग
महिला ने थानाधिकारी और अन्य पुलिसकर्मियों पर दुष्कर्म का आरोप लगाया। साथ ही पैरों के नाखून खींचने, आंख फोड़ने की बात कही। महिला ने अस्पताल परिसर स्थित थाने में पत्र सौंपते हुए आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है।

मामले के मीडिया में आने के बाद प्रशासन ने भी सख्ती बरती। चूरू पुलिस अधीक्षक राजेंद्र कुमार को एपीओ कर दिया गया है। सरदारशहर डीएसपी भंवरलाल मेघवाल को निलंबित किया गया है। इससे पहले इसी मामले में थानाधिकारी सहित सात पुलिसकर्मियों को निलंबित किया गया था। इसके अलावा 26 पुलिसकर्मी लाइन हाजिर किए गए। मामले की न्यायिक जांच की जा रही है।

LEAVE A REPLY