लखनऊ। लखनऊ मेट्रो के व्यावसायिक संचालन का पहला दिन आम यात्रियों के लिए खराब अनुभव लेकर आया। चारबाग से चली मवैया के पास मेट्रो ट्रेन में तकनीकी खराबी आने के कारण ब़डी संख्या में मुसाफिर करीब एक घंटे तक फंसे रहे। लखनऊ मेट्रो का मंगलवार को उद्घाटन होने के बाद बुधवार को आम लोगों के लिए इसका संचालन शुरू किया गया। मेट्रो की पहली सवारी के लिए अलग-अलग स्टेशनों पर लोगों का हुजूम उम़ड प़डा। सुबह चारबाग से ट्रांसपोर्ट नगर के लिए चली मेट्रो अभी कुछ ही दूर ब़ढी थी कि मवैया के पास उसमें तकनीकी खराबी आ गई। साथ ही उसकी लाइट तथा एयर कंडीशनर भी बंद हो गए।लखनऊ मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (एलएमआरसी) के वरिष्ठ जनसम्पर्क अधिकारी अमित कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि चारबाग से ट्रांसपोर्ट नगर के लिए सुबह करीब सवा सात बजे चली मेट्रो रेल में दुर्गापुरी तथा मवैया स्टेशनों के बीच तकनीकी खराबी आ गई, जिसकी वजह से आपातकालीन ब्रेक लगाना प़डा। उन्होंने बताया कि ट्रेन पर सवार सभी १०१ यात्रियों को ट्रेन के आपातकालीन द्वार से बाहर निकालकर दुर्गापुरी मेट्रो स्टेशन पर पहुंचाया गया, जहां से उन्हें दूसरी ट्रेन से ट्रांसपोर्ट नगर भेजा गया।श्रीवास्तव ने बताया कि मेट्रो रेलगा़डी के रुकने और उसमें से बाहर निकाले जाने तक एलएमआरसी के कर्मचारियों ने सभी यात्रियों का पूरा ख्याल रखा। दुर्गापुरी मेट्रो स्टेशन पर अधिकारियों ने यह सुनिश्चित किया कि यात्रियों को किसी तरह की असुविधा ना हो। उन्होंने बताया कि तकनीकी खराबी वाली मेट्रो ट्रेन को ट्रांसपोर्टनगर वर्कशाप ले जाया गया है। उसमें आई खराबी को ठीक किया जा रहा है। मेट्रो का व्यावसायिक संचालन शुरू होने के बाद उसकी सवारी का आनन्द लेने पहुंचे यात्री ट्रेन में खराबी आने के बाद गर्मी और उमस के बीच करीब एक घंटे तक फंसे रहे। दिल्ली जाने के लिए हवाई अड्डा जा रहे गौरव ने बताया कि वह चारबाग से मेट्रो में सवार होकर पौने नौ बजे वाली उ़डान से दिल्ली जाना चाहते थे लेकिन मेट्रो ट्रेन में फंस जाने के कारण उनका विमान छूट गया।

LEAVE A REPLY