नाना पाटेकर एवं तनुश्री दत्ता
नाना पाटेकर एवं तनुश्री दत्ता

मुंबई/दक्षिण भारत। पिछले साल भारत में फिल्म जगत से लेकर सियासत तक भूचाल लाने वाले ‘मीटू आंदोलन’ का प्रमुख चेहरा रहीं अभिनेत्री तनुश्री दत्ता को बड़ा झटका लगा है। उन्होंने अभिनेता नाना पाटेकर और गणेश आचार्य पर यौन शोषण जैसे गंभीर आरोप लगाए थे। अब करीब सात माह बाद पुलिस ने अपनी जांच में पाया कि तनुश्री के आरोप गवाहों के बयान से मेल नहीं खाते।

बता दें कि तनुश्री ने ओशिवारा पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज करवाई थी। इसके लिए पुलिस ने एक दर्जन से ज्यादा गवाहों के बयान दर्ज किए थे। उनमें से किसी का भी बयान तनुश्री के आरोपों का समर्थन नहीं करता है।

इस प्रकार ‘मीटू’ के तहत नाना पाटेकर पर जो आरोप लगाए गए, जांच में उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं मिला है। यह मामला साल 2008 की घटना से जुड़ा है जब तनुश्री दत्ता फिल्म ‘हॉर्न ओके प्लीज’ के सेट पर नाना पाटेकर के साथ एक डांस नंबर शूट कर रही थीं।

करीब एक दशक बाद पिछले साल तनुश्री ने नाना पाटेकर पर गंभीर आरोप लगाए, जिसके बाद इस मामले ने काफी तूल पकड़ा। इस संबंध में पुलिस ने 12 से 15 गवाहों के बयान दर्ज किए थे। गवाहों में सलमान खान के साथ ‘जय हो’ फिल्म में काम कर चुकी अभिनेत्री डेजी शाह भी हैं।

डेजी शाह उस दौरान गणेश आचार्य की सहायक थीं। उन्होंने पिछले साल नवंबर में बयान दर्ज कराया था। वहीं, इस मामले से जुड़े ज्यादातर गवाह वे हैं जो बैकग्राउंड डांसर अथवा उस समय सेट पर मौजूद कर्मचारी थे। इन लोगों में से किसी का भी बयान तनुश्री के आरोपों का समर्थन नहीं करता है। गवाहों ने कहा कि उस रोज शूटिंग विलंब से शुरू हुई, लेकिन यौन शोषण की बात याद नहीं है। उल्लेखनीय है कि ‘मीटू आंदोलन’ सुर्खियों में आने के बाद इससे जुड़े कई मामले अदालतों तक पहुंचे थे।

LEAVE A REPLY