security forces
security forces

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। लोकसभा चुनाव के बाद अब मतगणना में कुछ ही घंटे शेष हैं। इस बीच गृह मंत्रालय ने राज्यों एवं केन्द्र शासित प्रदेशों को हिंसा को लेकर अलर्ट जारी किया है। गृह मंत्रालय द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है कि देश के विभिन्न भागों में गुरुवार को होने वाली वोटों की गिनती के सिलसिले में हिंसा की संभावना के संबंध में राज्यों के मुख्य सचिवों तथा पुलिस महानिदेशकों को अलर्ट किया है।

बयान में बताया गया है कि गृह मंत्रालय ने राज्यों तथा केन्द्र शासित प्रदेशों से कानून और व्यवस्था तथा सार्वजनिक शांति बनाए रखने को कहा है। राज्यों तथा केन्द्र शासित प्रदेशों से स्ट्रांग रूम और मतगणना स्थलों के सुरक्षा के पर्याप्त उपाय करने को भी कहा है।

बयान में कहा है कि हिंसा भड़काने तथा मतगणना के दिन तोड़फोड़ करने को लेकर विभिन्न क्षेत्रों में दिए गए वक्तव्यों को देखते हुए ऐसा किया गया है। बता दें कि 19 मई को लोकसभा चुनाव के सातवें एवं अंतिम चरण के मतदान के बाद एग्जिट पोल जारी होने लगे थे। इनमें भाजपा के नेतृत्व वाले राजग की दोबारा सत्ता में वापसी के अनुमान लगाए गए हैं।

दूसरी ओर, विपक्ष के कई नेताओं ने अत्यधिक विवादित और भड़काऊ बयान दिए। रालोसपा नेता उपेंद्र कुशवाहा ने सड़कों पर खून-खराबे की धमकी दे डाली। वहीं बक्सर से निर्दलीय प्रत्याशी रामचंद्र यादव ने प्रेसवार्ता में पिस्टल लहराते हुए विवादित बयान दिया था। कांग्रेस नेता उदित राज ने भी ट्वीट कर ईवीएम पर सवाल उठाए। उन्होंने चुनाव आयोग को ‘बिका हुआ’ बताया। साथ ही उच्चतम न्यायालय पर बेहद आपत्तिजनक टिप्पणी करते हुए कहा, ‘क्या वो भी धांधली में शामिल है?’ सोशल मीडिया पर भी कई यूजर्स ने अभद्र और भड़काऊ सामग्री पोस्ट की है।

देश-दुनिया की हर ख़बर से जुड़ी जानकारी पाएं FaceBook पर, अभी LIKE करें हमारा पेज.

LEAVE A REPLY