सेना के साथ देश: बेंगलूरु विमान हादसे के बाद मदद आने तक पायलट के साथ था छात्र

0

‘फौज के साथ देश’ की मिसाल बन रही तस्वीर

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। एयरो इंडिया शो की तैयारी के लिए मंगलवार को अभ्यास उड़ान के दौरान दो सूर्यकिरण विमानों की टक्कर के बाद उनके मलबे इसरो लेआउट के पास गिरे। दुर्घटना के बाद राहगीर, स्थानीय लोग और एक इंजीनियरिंग कॉेलेज के छात्र मौके पर पहुंचे। उन लोगों में एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग के छात्र चेतन कुमार (22) भी शामिल थे। एक वायरल वीडियो के अनुसार, वे घायल पायलट को दिलासा दे रहे थे। साथ ही पायलट से पूछ रहे थे कि उसकी मदद के लिए क्या करना चाहिए।

वीडियो में चेतन कुमार पायलट का हाथ थामकर उसका हौसला बढ़ाते नजर आ रहे हैं। एक साक्षात्कार में चेतन ने बताया कि वे पायलट की मदद करने गए और वहां करीब 10 मिनट तक रहे। फिर प्रशासन की ओर से मदद भेजी गई। उनका इरादा पायलट को सांत्वना देना था ताकि इस मुश्किल घड़ी में वह खुद को अकेला न समझें और बेहतर महसूस करें। बाद में पायलट को कमांड अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी ​हालत बेहतर बताई गई है।

वीडियो में देखा गया कि जब घटनास्थल पर भीड़ जुटने लगी तो चेतन घायल पायलट से पूछ रहे थे कि उसकी मदद के लिए कौनसी चीज हटानी चाहिए। वायुसेना के पायलट को मुश्किल हालात में देख मदद के लिए दौड़े चेतन को वीडियो रिकॉर्डिंग की वजह से कुछ लोगों की ओर से आलोचना का सामना भी करना पड़ा। इस पर चेतन ने कहा कि यह काफी चौंकाने वाला था। यहां इस तरह पायलट को देखने की उम्मीद नहीं की जा सकती। धमाके के बाद धुआं उठ रहा था। इसके बाद मैं तेजी से भागा।

चेतन ने बताया कि उन्हें मालूम नहीं था कि वहां पायलट है। उन्होंने यूं ही रिकॉर्डिंग शुरू की ताकि घटना का वीडियो बना सकें, लेकिन जब पता चला कि यहां तो घायल अवस्था में पायलट है तो वे उसकी मदद करने पहुंच गए। चेतन ने बताया कि वे पायलट को दिलासा देना चाहते थे। चेतन ने कहा कि उन्होंने पायलट का हाथ थामा और बताया कि आपकी मदद के लिए लोग आ रहे हैं। पायलट ने ही उन्हें कहा था कि पैराशूट, सीट बेल्ट आदि हटा दें। चेतन ने बताई गईं चीजें हटाईं।

सांसद राजीव चंद्रशेखर ने सराहा
राज्यसभा सांसद राजीव चंद्रशेखर ने चेतन कुमार और उनके साथियों की सराहना की है। उन्होंने एक बयान जारी कर चेतन और साथियों को धन्यवाद कहा है, जो घायल पायलट विंग कमांडर विजय शेल्के और स्क्वाड्रन लीडर तेजेश्वर सिंह की मदद करने पहुंचे। उन्होंने नम्मा बेंगलूरु और अन्य संगठनों से भी इन युवाओं की तारीफ कर हौसला बढ़ाने की अपील की है। सांसद राजीव चंद्रशेखर ने कहा है कि चेतन और उनके साथियों ने नागरिक होने का फर्ज निभाया है। उन्होंने इनके उज्ज्वल भविष्य के लिए शुभकामनाएं व्यक्त की हैं।

LEAVE A REPLY