बुराड़ी कांड की तरह 6 लोगों ने दी जान, गणित की पहेली में बताई मौत की वजह

0
सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर

हजारीबाग। दिल्ली के बुराड़ी में एक ही परिवार के 11 लोगों की मौत के बाद ऐसा ही एक और मामला झारखंड के हजारीबाग जिले में सामने आया है। जानकारी के अनुसार, यहां एक ही परिवार के छह लोगों ने कथित तौर पर आत्महत्या कर ली है। इस घटना के बाद इलाके में सनसनी फैल गई। संबंधित परिवार काफी प्रतिष्ठित बताया जा रहा है।

पुलिस ने घटनास्थल से सुसाइड नोट बरामद किया है। इसमें गणित के सूत्र के रूप में जीवन खत्म करने का कारण बताया गया है। पुलिस इस मामले की जांच कर रही है, जिसमें मौत की संभावित वजहों को खंगाला जा रहा है। घटनास्थल से जो सुसाइड नोट बरामद हुआ है, उसके इशारों को समझें तो यह कर्ज की परेशानी से जुड़ा मामला लगता है।

मृतकों में माता-पिता, बेटा-बहू और पोता-पोती हैं। हजारीबाग के महावीर स्थान चौक पर महावीर माहेश्वरी (70) ड्राई फ्रूट की दुकान चलाया करते थे। उनके परिवार में पत्नी किरण (65), बेटा नरेश (40), बहू प्रीति (37), पोता यमन (11) और पोती यान्वी (6) थे।

महावीर और किरण का शव फंदे पर झूल रहा था। उनकी बहू प्रीति, पोती यान्वी का शव सोफे पर मिला। अमन का गला कटा हुआ था। नरेश का शव अपार्टमेंट के सामने पाया गया। छत की रेलिंग पर मिली कुर्सी के आधार पर शंका जताई जा रही है कि उसने कूदकर आत्महत्या की है।

इस रोंगटे खड़े कर देने वाली घटना की गु​त्थी एक सुसाइड नोट में छुपी है। उस पर लिखा है कि अमन को लटका नहीं सकते थे, इसलिए उसकी हत्या की गई। इसके बाद ‘सुसाइड नोट’ लिखकर गणित के सूत्र जैसी पहेली दी गई है : बीमारी+दुकान बंद+दुकानदारों का बकाया न देना+बदनामी+कर्ज = तनाव और मौत।

परिवार से जुड़े सूत्रों ने कहा है कि उनकी दुकान पर काफी कर्जा चढ़ गया था। वहीं बाजार से पैसा नहीं आ रहा था। इस वजह से देनदारी चुकाने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था। आखिरकार परिवार ने यह खौफनाक कदम उठाया। इस घटना के बाद आसपास के लोग काफी स्तब्ध हैं।

ये भी पढ़िए:
क्या मोदी को रोकने के लिए राजस्थान में बसपा से गठबंधन करेगी कांग्रेस
पढ़िए उस शहर की कहानी जो राम को मानता है राजा, पुलिस देती है रोज सलामी
सोना-चांदी नहीं, यहां चोरी हो गए 15 बकरे, होंडा सिटी से आए थे चोर

LEAVE A REPLY