कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार
कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार

मुंबई/दक्षिण भारत। कर्नाटक में कांग्रेस-जद (एस) गठबंधन सरकार के बागी विधायकों के मामले में हर रोज नया मोड़ सामने आ रहा है। इस बीच बागी विधायकों को मनाने के लिए कोशिशें जारी हैं। मुंबई के रेनिसन्‍स होटल में डेरा जमाए बैठे 11 विधायकों से मुलाकात के लिए जब वरिष्‍ठ कांग्रेसी नेता और कर्नाटक सरकार में मंत्री डीके शिवकुमार पहुंचे तो पुलिस ने उन्हें होटल के दरवाजे पर ही रोक दिया।

बताया गया कि बागी विधायकों ने शिवकुमार से अपनी जान को खतरा बताकर पुलिस सुरक्षा मांगी थी। ऐसे में उनकी सुरक्षा बढ़ा दी गई। जब शिवकुमार वहां पहुंचे तो बागी विधायकों के समर्थकों ने ‘वापस जाओ’ के नारे लगाकर मंत्री के लौट जाने की मांग की।

मामले पर डीके शिवकुमार ने कहा कि उन्होंने होटल में कमरा बुक किया है। उनके मित्र वहां रुके हुए हैं। एक छोटी-सी समस्या है, जिसके सन्दर्भ में वे बातचीत करने आए हैं। उन्होंने कहा कि हम तुरंत तलाक की बात नहीं कर सकते और यहां किसी को धमकाने का सवाल ही नहीं पैदा होता। उन्होंने कहा कि हम एक-दूसरे का सम्‍मान करते हैं।

शिवकुमार ने बागी विधायकों के बारे में कहा कि हम लोगों का जन्‍म एक साथ राजनीति में हुआ और हम साथ ही राजनीति में मरेंगे। उन्होंने कहा कि वे हमारी पार्टी के लोग हैं और उनसे मुलाकात के लिए आए हैं। शिवकुमार ने पुलिस के बारे में कहा कि मुंबई पुलिस या किसी भी अन्‍य सुरक्षा बल को तैनात करने दीजिए और उन्हें अपनी ड्यूटी करने दीजिए।

गौरतलब है कि कर्नाटक में गठबंधन सरकार पर उस समय खतरे के बादल मंडराने लगे जब कांग्रेस-जद (एस) के दर्जनभर विधायकों ने इस्तीफा दे​ दिया। बगावत करने वाले 11 विधायक मुंबई आ गए और यहां के रेनिसन्‍स होटल में ठहरे।

एक टीवी चैनल से बातचीत के दौरान कांग्रेस के बागी विधायक सोम शेखर ने कहा कि वे पार्टी में बने हुए हैं, उनका इस्तीफा विधायक पद से है। उन्होंने इस्तीफा वापस न लेने की बात दोहराते हुए कहा कि एचडी कुमारस्वामी की सरकार नहीं बचेगी। उन्होंने होटल में मौजूद 11 विधायकों के साथ दो अन्य विधायकों के एकजुट होने की बात कही। उन्होंने कहा कि अगली रणनीति तैयार कर रहे हैं, साथ ही फैसले पर अडिग हैं।

LEAVE A REPLY