fire in dhaka
fire in dhaka

ढाका/दक्षिण भारत। बांग्लादेश की राजधानी ढाका स्थित एक इमारत में भीषण आग लगने से कम से कम 70 लोगों की मौत हो गई। करीब 40 लोग घायल हुए हैं। अग्निशमन सेवा के महानिदेशक अली अहमद खान ने कहा है कि कुछ लोगों की हालत गंभीर है, इसलिए हताहतों की संख्या बढ़ सकती है। स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, बुधवार रात को राजधानी के पुराने शहर इलाके के चौक बाजार की एक इमारत में सबसे पहले आग लगी थी। यह रिहाइशी इमारत थी। इसमें रसायनों का एक गोदाम भी था। तेजी से फैली आग ने अन्य इमारतों को अपनी चपेट में ले लिया। आग बुझाने के लिए दमकल की करीब 30 गाड़ियां घटनास्थल पर पहुंचीं। इस भीषण अग्निकांड में बांग्लादेश को जान-माल का भारी नुकसान हुआ है।

बताया गया कि आग रात करीब 10.40 बजे लगी और तेजी से फैलती गई। इस वजह से लोगों को जान बचाने का मौका नहीं मिला और बड़ी तादाद में लोगों ने जान गंवाई। अधिकारी इस घटना की जांच कर रहे हैं, लेकिन आग लगने का कारण गैस सिलेंडर में विस्फोट माना जा रहा है। इसके बाद आग इमारत में रखे रसायनों और प्लास्टिक तक जा पहुंची और विकराल रूप धारण कर लिया। गुरुवार सुबह तक इमारत के कई हिस्से जलते रहे। आग की वजह से कई शव बुरी तरह जल चुके थे।

आग की लपटें नजदीक ही स्थित चार इमारतों तक पहुंच गईं, जिसके बाद यहां अफरातफरी मच गई। इन इमारतों में भी रासायनिक पदार्थ रखे हुए थे। इस इलाके की गलियां काफी संकरी हैं। वहीं आसपास काफी ऊंची रिहायशी इमारतें स्थित होने के कारण आग बुझाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ा। इस संबंध में ढाका के डिप्टी कमिश्नर इब्राहिम खान ने बताया कि आग में दो कारें और 10 साइकिल रिक्शा जल गए। यहां एक रेस्टोरेंट में खाना खाने आए लोग भी आग की चपेट में आ गए।

LEAVE A REPLY