anand mahindra
anand mahindra

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। पुलवामा हमले के बाद देशभर में लोग सड़कों पर उतरकर पाकिस्तान के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। गांव-शहरों में लोगों ने स्कूल और व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रख प्रदर्शन किए। वहीं देश के उद्योगपति भी शहीदों को नमन कर उनके परिजनों के प्रति संवेदनाएं व्यक्त कर रहे हैं। प्रसिद्ध उद्योगपति आनंद महिंद्रा ने एक ट्वीट कर शहीदों के परिजनों की आर्थिक सहायता करने की बात कही है।

उन्होंने कहा है कि पुलवामा हमले के बाद हम गुस्से से भरे हुए हैं। उन्होंने ऐसे समय में देशवासियों से अपील की है कि शहीदों के परिजनों की आर्थिक सहायता के लिए पहल की जाए। आनंद महिंद्रा ने बताया कि यदि देश के 50 लाख लोग भी 10-10 रुपए दें तो 5 करोड़ की रकम इकट्ठी हो सकती है। उन्होंने इसके लिए ‘भारत के वीर डॉट जीओवी डॉट इन’ वेबसाइट का जिक्र किया। यहां लोग शहीदों को नमन करते हुए उनके परिजनों के लिए धनराशि देने के लिए इतनी ज्यादा तादाद में विजिट कर रहे हैं कि वेबसाइट कुछ अवधि के लिए क्रैश हो गई।

वहीं, जेएसडब्ल्यू ग्रुप के एमडी सज्जन जिंदल ने कहा है कि सरकार एक आपात संसदीय सत्र बुलाए और धारा-370 को खत्म करे। देश देखे कि कौनसी पार्टी इसे समर्थन देती है और कौन नहीं। उन्होंने मौजूदा स्थिति में यह कदम उठाने पर जोर दिया है। इसके अलावा आरपीजी ग्रुप के चेयरमैन हर्ष गोयनका ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक तस्वीर पोस्ट कर कहा है कि इस समय देश के सभी राजनीतिक दलों को एक हो जाना चाहिए।

तस्वीर में केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी एक पंक्ति में खड़े दिखाई दे रहे हैं। गोयनका कहते हैं कि हमें एकता कायम रखने की जरूरत है, ताकि इस जघन्य अपराध को अंजाम देने वाले गुनहगारों से बदला लें।

kiran majumdar shaw
kiran majumdar shaw

बायोकॉन की चेयरपर्सन किरण मजूमदार-शॉ ने पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान की खामोशी पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा है कि पाकिस्तानी प्रधानमंत्री की कायरतापूर्ण चुप्पी गुनाह की स्पष्ट स्वीकारोक्ति है। उन्होंने कहा कि यदि इमरान वैश्विक नेता बनने के लिए गंभीर होते तो वे इससे इनकार नहीं करते कि उनके मुल्क में आतंकी समूह पनाह लिए हुए हैं, जिन्होंने पुलवामा में यह कायरतापूर्ण कृत्य किया है।

LEAVE A REPLY