मतदाता की अंगुली पर अमिट स्याही लगाते हुए मतदान कर्मी
मतदाता की अंगुली पर अमिट स्याही लगाते हुए मतदान कर्मी

नई दिल्ली/वार्ता। लोकसभा चुनाव के पहले चरण में गुरुवार को कुल मिलाकर शांतिपूर्ण मतदान हुआ और त्रिपुरा में सबसे अधिक 81.8 फीसदी तथा पश्चिम बंगाल में 81 फीसदी मत डाले गये। उप चुनाव आयुक्त उमेश सिन्हा ने गुरुवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में बताया कि 17 वीं लोकसभा के पहले चरण के चुनाव में 18 राज्यों और दो केन्द्र शासित प्रदेशों की 91 सीटों के लिए मत डाले गये और जम्मू कश्मीर सहित सभी क्षेत्रों में मतदान कुल मिलाकर शांतिपूर्ण रहा।

उन्होंने कहा कि कहीं से किसी भी तरह की बड़ी अप्रिय घटना की जानकारी नहीं मिली और मतदाताओं में मतदान के प्रति अच्छा उत्साह देखा गया। उन्होंने कहा कि आयोग को सभी सीटों से शाम पांच बजे तक के मतदान के आंकड़े मिले हैं। ताजा जानकारी के अनुसार अभी भी कुछ मतदान केन्द्रों में मत डाले जा रहे थे। त्रि

पुरा की एक सीट के लिए 81.8 फीसदी, पश्चिम बंगाल की दो सीटों के लिए 81, जम्मू कश्मीर की दो सीटों के लिए 54.49, आन्ध्र प्रदेश की 25 सीटों के लिए 70.67, छत्तीसगढ़ की एक सीट के लिए 56, अंडमान निकोबार की एक सीट के लिए 70.67, तेलंगाना की 17 सीटों के लिए 60, उत्तराखंड की पांच सीटों के लिए 57.85, सिक्किम की एक सीट के लिए 69, मिजोरम की एक सीट के लिए 60, नगालैंड की एक सीट के लिए 78.2, असम की पांच सीटों के लिए 68, उत्तर प्रदेश की 8 सीटों के लिए 63.69, ओडिशा की चार सीटों के लिए 68, महाराष्ट्र की सात सीटों लिए 56, मेघालय की दो सीटों के लिए 67.16 लक्षद्वीप की एक सीट के लिए 66 और बिहार की चार सीटों के लिए 50 फीसदी मत डाले गये।

उन्होंने कहा कि पहले चरण के चुनाव में अब तक आचार संहिता उल्लंघन के ५७० मामले सामने आये। आन्ध्र प्रदेश में 6, अरूणाचल प्रदेश में 5, बिहार में 1, मणिपुर में 1 और पश्चिम बंगाल में 1 इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन में खराबी की शिकायत मिली।

बिहार में 53.06 प्रतिशत मतदान
बिहार में लोकसभा की चालीस में से चार सीटों पर चुनाव बहिष्कार की उग्रवादियों की घोषणा से बेपरवाह 70 लाख 66 हजार मतदाताओं में से करीब 53.06 प्रतिशत ने मताधिकार का प्रयोग कर पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी और लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) प्रमुख रामविलास पासवान के पुत्र चिराग पासवान समेत 44 प्रत्याशियों के भाग्य को इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन में लॉक कर दिया। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी एच.आर. श्रीनिवास ने मतदान समाप्ति के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा कि उग्रवाद प्रभावित चार संसदीय क्षेत्र जमुई (सु), औरंगाबाद, गया (सु) और नवादा में छिटपुट घटनाओं को छोड़कर मतदान शांतिपूर्वक सम्पन्न हो गया।

LEAVE A REPLY