डायरीगेट मामला : सिन्हा के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज

0

नई दिल्ली। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने कोयला ब्लॉक आवंटन घोटाला मामले की जांच प्रभावित करने के मामले में अपने ही पूर्व निदेशक रंजीत सिन्हा के खिलाफ मंगलवार को प्राथमिकी दर्ज की। उच्चतम न्यायालय ने डायरीगेट मामले में जुलाई २०१५ में जाने-माने वकील प्रशांत भूषण की शिकायत पर सिन्हा के खिलाफ जांच का जिम्मा विशेष निदेशक एमएल शर्मा को सौंपा था। सुनवाई के दौरान भूषण ने अदालत में सिन्हा के सरकारी आवास पर आने-जाने वाले लोगों की जानकारी संबंधी डायरी भी अदालत में पेश की थी। जांच एजेंसी के इतिहास में यह दूसरी बार है कि जब सीबीआई ने अपने ही किसी पूर्व निदेशक के खिलाफ आरोपों के सिलसिले में प्राथमिकी दर्ज की है। जांच एजेंसी ने गत फरवरी में पूर्व निदेशक एपी सिंह के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी। उनके खिलाफ धनशोधन (मनी लॉ्ड्रिरंग) के आरोपी मांस कारोबारी मोईन कुरैशी को मदद करने का आरोप था। सिन्हा वर्ष २०१२ से २०१४ तक सीबीआई के निदेशक रहे थे और उन पर आरोप है कि इस दौरान उन्होंने कोयला घोटाले के आरोपियों से मुलाकात की थी, जिसमें कुछ राजनेता और कुछ कारोबारी शामिल थे। पीठ ने अपने फैसले में कहा था कि वह इस बात से प्रथम दृष्टया संतुष्ट हैं कि सिन्हा ने अपने पद का दुरुपयोग किया था।

LEAVE A REPLY