टैक्सी ड्राइवर ने बेटे के साथ की पढ़ाई, दिया इम्तिहान और साथ किया बीकॉम पास

0
Mohammad Faruk Sheikh
Mohammad Faruk Sheikh

बाप-बेटे की मेहनत रंग लाई। अब इन दोनों ने एकसाथ बीकॉम पास कर लिया है। मोहम्मद फारूक यही नहीं रुकना चाहते। वे एमकॉम करना चाहते हैं।

मुंबई। अगर किसी लक्ष्य को हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत, अडिग हौसले और पूरे यकीन के साथ जुट जाएं तो कोई बंदिश रोक नहीं सकती। इस बात को सच कर दिखाया है मुंबई के एक टैक्सी ड्राइवर ने। उनका नाम मोहम्मद फारूक शेख है। उन्होंने बीकॉम की डिग्री पूरी की है। दिलचस्प यह है कि उन्होंने अपने बेटे के साथ पढ़ाई की और साथ ही पास हुए।

मोहम्मद फारूक बताते हैं कि आर्थिक स्थिति ठीक न होने की वजह से वे आगे पढ़ाई जारी नहीं रख पाए। इसके बाद वे टैक्सी चलाकर परिवार का पालन-पोषण करने लगे। इस बीच घर-परिवार की जिम्मेदारियां बढ़ती गईं, जिनके लिए वे शहर में लगातार टैक्सी चलाते रहे। उनके मन में लगातार यह इच्छा पैदा होती कि मुझे आगे पढ़ना है।

उनके बेटे हाजिम ने जब मुंबई वि​श्वविद्यालय से बीकॉम करने के लिए दाखिला लिया तो फारूक ने भी वाईबी चव्हाण विश्वविद्यालय में नामांकन करा लिया। इसके बाद वे काम के साथ पढ़ाई में जुट गए। बेटा जो दिन में पढ़कर आता, फारूक उसे नोट कर लेते। अगर उन्हें कोई प्रश्न पूछना होता तो अपने बेटे से पूछ लेते। इस तरह पढ़ने-पढ़ाने का यह सिलसिला चल पड़ा।

बाप-बेटे की मेहनत रंग लाई। अब इन दोनों ने एकसाथ बीकॉम पास कर लिया है। मोहम्मद फारूक यही नहीं रुकना चाहते। वे एमकॉम करना चाहते हैं। बीकॉम करने के बाद भी वे टैक्सी चलाते हैं, लेकिन अब उनमें एक गजब का आत्मविश्वास आ गया है। वे इसे शिक्षा की देन बताते हैं। वे कहते हैं कि डिग्री की वजह से मुझे समाज और जहां मैं काम करता हूं, वहां सम्मान मिला है। मोहम्मद फारूक के परिजन उनकी इस उपलब्धि पर बहुत खुश हैं।

ये भी पढ़िए:
– एमबीबीएस में गोल्ड मेडलिस्ट डॉ. हिना ने ली दीक्षा, बनीं साध्वी श्री विशारदमाला
– सीरिया हमले से ख़फ़ा युवक ब्रिटेन की प्रधानमंत्री को बम से उड़ाने की कर रहा था तैयारी!
– 13 साल के इस बच्चे के स्टार्टअप ने मचाई इंटरनेट पर धूम, 100 करोड़ का बनाया लक्ष्य

LEAVE A REPLY