कमल हासन
कमल हासन

अरवाकुरिचि (तमिलनाडु)/दक्षिण भारत। लोकसभा चुनाव के छह चरण पूरे हो चुके हैं और नेताओं के विवादित बयान लगातार सामने आ रहे हैं। इसी फेहरिस्त में अब अभिनेता से नेता बने कमल हासन भी शामिल हो गए हैं जिन्होंने आतंकवाद को लेकर विवादित बयान दिया है। मक्कल निधि मैयम (एमएनएम) के संस्थापक हासन ने कहा कि आजाद भारत का पहला ‘आतंकवादी हिंदू’ था।

दरअसल कमल हासन यह बात नाथूराम गोडसे के बारे में कह रहे थे, जिसने महात्मा गांधी की हत्या की थी, लेकिन इस दौरान उन्होंने ‘हिंदू’ शब्द का जिक्र कर फिर नई बहस शुरू कर दी है। रविवार रात को एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कमल हासन ने कहा कि वे स्वाभिमानी भारतीय हैं और समानता वाला देश चाहते हैं।

कमल हासन ने कहा कि मैं ऐसा इसलिए नहीं बोल रहा हूं कि यह मुसलमान बहुल इलाका है, बल्कि मैं यह बात गांधी की प्रतिमा के सामने बोल रहा हूं। इसके बाद उन्होंने कहा कि आजाद भारत का पहला आतंकवादी हिंदू था और उसका नाम नाथूराम गोडसे है। वहीं से इसकी (आतंकवाद) शुरुआत हुई।

गौरतलब है कि ‘हिंदू आतंकवाद’ शब्द पर पहले भी देशभर में लोग कड़ी आपत्ति जता चुके हैं। भोपाल लोकसभा क्षेत्र में यह मुद्दा खूब चर्चा में रहा है, जहां भाजपा से साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर और कांग्रेस से दिग्विजय सिंह मैदान में हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह सहित भाजपा नेता इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस पर आक्रामक रहे हैं। अब कमल हासन के बयान के बाद उन्हें सोशल मीडिया पर कड़ी आलोचना का सामना करना पड़ रहा है। कई यूजर्स ने इसे वोटबैंक बनाने की ओछी राजनीति करार दिया है।

देश-दुनिया की हर ख़बर से जुड़ी जानकारी पाएं FaceBook पर, अभी LIKE करें हमारा पेज.

LEAVE A REPLY