बेंगलूरु/दक्षिण भारतकर्नाटक विधानसभा चुनावों में जीत के सेहरे के लिए चिलचिलाती धूम में भी चुनावी मैदान में डटे रहने वाले राजनीतिक दलों ने प्रचार अभियान के आखिरी दौर में अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के लिए ’’मिनी लोक सभा’’ चुनाव बना यह विधानसभा चुनाव मोदी बनाम राहुल भी बन गया है। इम्तिहान की घ़डी (१२ मई) के नजदीक आते ही राजनीतिक दलों से लेकर आम जनता में राज्य की नयी सरकार के गठन को लेकर इन दिनों उत्सुकता चरम पर है।·र्ैं्यट्ठद्म झ्यद्यय्द्ब ·र्ैंद्य द्यब्ष्ठ द्बह्ख्रर्‍ संभवत: पहली बार है जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ’’कर्नाटक मुक्त भारत’’ मिशन को बेहद गंभीरता से लेते हुए मतदाताओं तक पहुंचने के लिए कठिन परिश्रम कर रहे हैं और चुनाव प्रचार में सत्तारू़ढ कांग्रेस, खासकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर जोरदार हमले कर रहे हैं। कर्नाटक में पार्टी की सरकार बचाने के लिए बीमार चल रही पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी कल विजयापुरा में पहला चुनाव प्रचार किया। श्रीमती गांधी ने प्रधानमंत्री पर हमला बोलते हुए कहा कि इसमें कोई शक नहीं हैं कि मोदी भाषण अच्छा देते हैं और वह बहुत बि़ढया वक्ता हैं। लोगों को मूर्ख बनाने का ड्रामा करना उनको आता है। श्रीमती गांधी ने कहा, लेकिन मोदी जी आपकी बातों से पेट नहीं भरता और न ही दवाइयां मिलती हैं। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता एवं वित्त मंत्री अरुण जेटली तबीयत खराब रहने के कारण चुनाव प्रचार में हिस्सा नहीं ले सके। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने चुनाव प्रचार में अपनी भूमिका को संवाददाता सम्मेलन तक ही सीमित रखी और विमुद्रीकरण, वस्तु एवं सेवा कर, पेट्रोलियम पदार्थों की ब़ढती कीमतों को लेकर प्रधानमंत्री पर तीखे हमले किये। डॉ सिंह ने आरोप लगाया कि इस सभी कारणों से देश की अर्थव्यवस्था चरमरा गयी है।प्रय्य्ब् द्मष्ठ झ्श्नख्रष्ठप्रय् ·द्द त्ररूर्ड्डैंय्द्मर्‍ ख्रह्रद्यष्ठ ्य·र्ैंॅभाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने चुनाव प्रचार के लिए कर्नाटक के तूफानी दौरे किये। उन्होंने मतदाताओं को लुभाने के लिए कोई कोर कसर नहीं छो़डी और कई रैलियां और लोकसभाएं कीं। शाह चुनाव प्रचार के लिए बेल्लारी नहीं गये क्योंकि उन्हें डर था कि विपक्षी दल उन्हें खनन माफिया कहे जाने जाने वाले गली जर्नादन रेड्डी के भाई को टिकट देने को लेकर घेरेंगे। उच्चतम न्यायालय ने जी जनार्दन रेड्डी को बेल्लारी में प्रचार करने की अनुमति नहीं दी है। उनके छोटे भाई जी सोमशेखर रेड्डी कर्नाटक की बेल्लारी सीट से भाजपा के प्रत्याशी हैं। चुनाव प्रचार के लिए भाजपा के वरिष्ठ नेताओं में अच्छा तालमेल देखा गया। भाजपा के कर्नाटक चुनाव प्रभारी केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जाव़डेकर और पीयूष गोयल की चुनाव प्रचार में अहम भूमिका है। पार्टी के स्टार प्रचारक एवं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य की सिद्दारामैया सरकार पर क़डे हमले किये और कहा कि यह सरकार हर मोर्चे पर विफल रही है। राज्य की कानून-व्यवस्था चरमरा गयी है और सरकार ने लिंगायत समुदाय को विशेष दर्जा देकर समाज को बांटने का काम किया है। गर्मी के चरम पर, खासकर उत्तरी कर्नाटक में, पहुंचने के साथ-साथ चुनाव प्रचार में प्रतिद्वंद्वियों के बीच प्रतियोगिता ने भी तेजी पक़डी और प्रधानमंत्री समेत सभी दलों के नेताओं ने चिलचिलाती धूम में खूब पसीना बहाया। मोदी को कई बार सार्वजनिक सभाओं में रुमाल से पीसना पोंछते देखा गया लेकिन भीषण गर्मी के बावजूद मोदी, श्रीमती गांधी और गांधी की रैलियों और सभाओं में ब़डी संख्या में लोग शामिल हुए। जनता दल सेक्युलर भी चुनाव प्रचार में पीछे नहीं है और राज्य में अगली सरकार बनाने के लक्ष्य को लेकर पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एच डी देवेगौ़डा और एच डी कुमारस्वामी ने कई बार राज्यभर में यात्राएं की और पार्टी के पक्ष में जोरदार प्रचार किया। कुमारस्वामी दो सीटों, रामनगरम और चन्नपटना से चुनाव ल़ड रहे हैं। २२४ सदस्यीय विधानसभा के चुनावों में २६५४ से अधिक प्रत्याशी चुनावी समर में हैं लेकिन कई निर्वाचन क्षेत्रों में कांग्रेस और भाजपा के बीच सीधा मुकाबला है। वर्ष २०१३ के विधानसभा चुनावों में १२० सीट जीतने वाली कांग्रेस ने २२२सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं जबकि भाजपा २२३ सीटों पर चुनाव ल़ड रही है। कांग्रेस ने अपने लगभग सभी विधायकों को टिकट दिया है। उसने मंदिरों के शहर मेलुकोट में अपने प्रत्याशी नहीं ख़डे किये हैं और वह किसान नेता के एस पुट्टनैया के पुत्र को समर्थन दे रही है। मुख्यमंत्री दो स्थानों,चामुंडेश्वरी और बादामी से चुनाव ल़ड रहे हैं। जनता दल एस ने बहुजन समाज पार्टी से गठबंधन किया है और उसने उसे २० सीट दी हैं। शेष सभी सीटों पर उसने अपने उम्मीदवार ख़डे किये हैं। शिव सेना ४० सीटों पर चुनाव ल़ड रही है। पूर्व केन्द्रीय मंत्री शरद पवार की पार्टी राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी महाराष्ट्र एकीकरण समिति को समर्थन दे रही है। जयानगर सीट से दो बार भाजपा विधायक रहे बी एन विजयकुमार के निधन के कारण इस सीट पर फिलहाल चुनाव रोक दिया गया है। उल्लेखनीय है कि २२४ सीटों के लिए १२ मई को सुबह छह बजे से शाम सात बजे तक मतदान होगा और १५ मई को मतगणना होगी।

LEAVE A REPLY