jaish terrorists
jaish terrorists

श्रीनगर/दक्षिण भारत। पुलवामा हमले के गुनहगारों को सेना द्वारा मार गिराने के बाद जैश-ए-मोहम्मद ने अबू बकर को नया कमांडर बनाया है। गाजी के खात्मे से इस आतंकी संगठन को तगड़ा झटका लगा है, जिसके बाद अब अबू बकर को घाटी में दहशतगर्दी फैलाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। एक रिपोर्ट के अनुसार, गाजी की तरह ही अबू बकर भी आईईडी धमाकों का जानकार है।

यह आतंकवादी गाजी से भी ज्यादा खूंखार बताया गया है। इसने अफगानिस्तान जाकर आतंकियों से प्रशिक्षण लिया था। वहां तालिबान आतंकी आत्मघाती धमाके कर अमेरिका और नाटो फौज पर हमले करते रहे हैं। भारतीय सेना भी एक बयान में कह चुकी है कि आतंकी संगठन पुलवामा जैसे हमले अफगानिस्तान और सीरिया में करते रहे हैं।

बताया गया है कि इससे पहले अबू बकर पाक अधिकृत कश्मीर में रहा, जहां उसने कई युवाओं को आतंकवादी बनाया। अब भी पीओके के फगोश, देवलियां और बोई जैसे इलाकों में आतंकी कैंप चल रहे हैं। यहां जैश कई युवाओं को आत्मघाती हमलावर बनाने का प्रशिक्षण दे चुका है। सूत्रों के हवाले से प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, पिछले साल जुलाई में अबू बकर ने पीओके के रास्ते घुसपैठ की थी।

जैश और अन्य संगठनों के कई आतंकी अभी कश्मीर घाटी में सक्रिय हैं। खासतौर से जैश ऐसे युवाओं को भड़का रहा है जो कट्टरपंथ के नाम पर भारतीय सुरक्षाबलों पर हमले कर सकें। अफगानिस्तान में पाकिस्तानी आतंकियों ने आत्मघाती हमलों से भयंकर तबाही मचा चुके हैं। पुलवामा हमले के बाद भारत की सुरक्षा एजेंसियां काफी सतर्क हैं। सेना की ओर से चेतावनी दे दी गई है कि जो भी आतंकी बन बंदूक उठाएगा, मारा जाएगा।

LEAVE A REPLY