गर्भवती महिलाओं’को परेशान करने वाले रोग

0

यहां हम ऐसे कुछ रोगों, कुछ तकलीफों का वर्णन किया जा रहा है जो गर्भवती महिला को परेशानी में डाल सकते हैं। सब महिलाओं को एक-सी तकलीफें नहीं होतीं, फिर भी जो संभवत: रोग हो सकते हैं, उनके उपचारों का वर्णन दे रहे हैं। आवश्यकतानुसार चुनाव करें। * यदि गर्भवती को अतिसार होने से परेशानी हो रही हो तो वह मीठी नारंगी का शरबत पिया करे। आराम पाएगी।* अगर उसे गर्भावस्था में स्तन पी़डा बहुत हो रही हो तो वह धतूरे के पत्तों तथा हल्दी को पीसकर स्तनों पर लेप करे। स्तनपी़डा नहीं रहेगी* यदि ज्वर चल रहा हो तो बकरी का दूध प्राप्त करें। इस दूध के साथ सोंठ का चूर्ण अढाई माशा खाएं। तीन दिनों तक। ठीक हो जाएंगे* जी का मिचलाना गर्भवती की आम समस्या है। लोंग पीसकर चूर्ण बना लें। इसे मिश्री की चाशनी में डालकर पी लें। उसका जी मिचलाना बंद हो जाएगा।* गर्भवती स्त्री को ज्वर हो या स्तन पी़डा, वह इन्द्रायण की ज़ड का लेप करे तो आराम पाएगी।* कई बार गर्भवती महिला संग्रहणी रोग से परेशान हो जाती है। वह आम की छाल तथा जामुन की छाल लेकर का़ढा बनाए। इसमें खीलों का सत्तू भी डालें। इसका सेवन करें।* बहुत बार प्रसूत-ज्वर गर्भवती को ब़डा परेशान कर देता है। ऐसे में उसे दशमूल के गर्म का़ढे में देशी घी मिलाकर पिलाएं। फायदा होगा।

LEAVE A REPLY