हैदराबाद। भारतीय खाद्य एवं कृषि विभाग (आईसीएएफ) ने नईिदल्ली में तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव (केसीआर) को एग्रीकल्चर लीडरशिप अवार्ड से नवाजा है। नई दिल्ली में आयोजित १०वें ग्लोबल एग्रीकल्चर लीडरशिप समिट में केसीआर के प्रतिनिधि के रूप में उपस्थित राज्य के कृषि मंत्री पोचाराम श्रीनिवास रेड्डी ने हरियाणा के राज्यपाल प्रो. डॉ. केएस सोलंकी के हाथों यह पुरस्कार ग्रहण किया। जारी प्रेस विज्ञप्ति में बताया कि कृषि और सिंचाई के क्षेत्र में उल्लखेनीय कार्य से ग्रामीण इलाकों में गहरा असर डालने और लाखों किसानों की जिंदगी बदलने के मद्देनजर इस अवार्ड के लिए केसीआर का चयन किया गया। आईसीएफए ने वर्ष २००८ से इस अवार्ड की योजना शुरू की थी। अब तक सम्मानित होने वालों में प्रो. स्वामीनाथन, बलराम जाख़ड, शरद पवार, प्रो. पीके धूमल, डॉ. रमन सिंह, प्रकाश सिंह बादल, अखिलेश यादव, शिवराज सिंह चौहान, रतन टाटा आदि शामिल हैं। मुख्यमंत्री के प्रतिनिधि के रुप में अवार्ड ग्रहण करने वाले कृषि मंत्री पोचाराम ने कहा कि सीएम को अवार्ड देने से विपक्ष को ईष्र्या हो रही है। उन्होंने कहा कि सीएम को यह अवार्ड मिलने तेलंगाना राज्य के लिए गौरव की बात है। पोचाराम ने कहा कि विपक्ष मुख्यमंत्री की लोकप्रियता को पचा नहीं पा रहा है। इसका बहुत ब़डा कारण यह भी है कि पिछली सरकारों को यह अवार्ड क्यों नहीं मिला। उन्होंने कांग्रेस नेताओं द्वारा की टिप्पणी पर कहा कि केसीआर को अवार्ड मिलने से कांग्रेसियों को जलन हो रही है। राज्य में कृषि क्षेत्र और किसान समुदाय को सशक्त बनाने में मदद मिलने का दावा करते हुए रेड्डी ने कहा कि केसीआर सरकार किसानों की हर संभव मदद करते हुए राज्य को कर्जमुक्त बनाने का प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि केसीआर अगले पांच सालों में एक करो़ड एक़ड भूमि को सिंचित क्षेत्र बनाने का प्रयास कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY