काबुल। अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में शनिवार को एक एम्बुलेंस में छुपाकर रखे बम में विस्फोट हो जाने से कम से कम ९५ लोग मारे गए, जबकि १५८ अन्य घायल हो गए। यह विस्फोट इतना जोरदार था कि सैंक़डों मीटर दूर इमारतों में कंपन महसूस किया गया और आसपास के क्षेत्रों में शवों के टुक़डे छितराकर बिखर गए। विस्फोट की जिम्मेदारी तालिबान ने ली है। विस्फोट की तीव्रता के चलते कम से कम दो किलोमीटर दूर स्थित क्षेत्रों में मौजूद इमारतों की खि़डकियां हिल गईं और घटनास्थल से १०० मीटर के अंदर स्थित इमारतों की खि़डकियां टूट गईं। कुछ कम ऊंची इमारतें गिर भी गईं। माना जा रहा है कि हमले की इस ताजा घटना से राष्ट्रपति अशरफ घानी और अमेरिका नीत गठबंधन बल पर दबाव प़डेगा, जिन्होंने यहां के प्रमुख इलाकों में सक्रिय तालिबान को खदे़डने के लिए नयी प्रभावी सैन्य रणनीति के क्रियान्वयन पर बल दिया है। इसी रणनीति के तहत अमेरिका ने अफगानी सेना की मदद और तालिबान तथा अन्य आतंकवादी समूहों के खिलाफ हवाई हमला तेज किया है।

LEAVE A REPLY