कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी
कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने ट्वीट कर अपनी ही पार्टी के खिलाफ नाराजगी जताई है। मामला मथुरा में कांग्रेस के कुछ कार्यकर्ताओं से जुड़ा है, जिन्होंने पिछले दिनों प्रियंका से अमर्यादित व्यवहार किया था। इसके बाद उन्हें पार्टी से निकाल दिया गया था। हालांकि बहुत जल्द उन्हें वापस भी ले लिया गया।

इस पर प्रियंका चतुर्वेदी ने रोष जताया है। उन्होंने ट्वीट किया कि कांग्रेस में उत्पाती गुंडों को उन लोगों पर वरीयता दी जा रही है, जिन्होंने पार्टी के लिए अपना खून-पसीना दिया है। उन्होंने लिखा कि कांग्रेस के इस बर्ताव से उन्हें गहरा दुख पहुंचा है।

कांग्रेस नेता ने आगे लिखा कि उन्होंने पार्टी के लिए आलोचना और गालियां बर्दाश्त कीं। उन्होंने पार्टी नेताओं के उक्त निर्णय को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि जिन लोगों ने धमकाया, उन पर कोई कार्रवाई नहीं की गई।

इसके अलावा प्रियंका चतुर्वेदी ने एक पत्र भी शेयर किया है, जिसमें घटना का जिक्र है। पूर्व विधायक और उप्र कांग्रेस अनुशासन समिति के सदस्य फजले मसूद के हस्ताक्षर युक्त इस पत्र में प्रियंका से अमर्यादित व्यवहार करने वाले कार्यकर्ताओं को ‘प्रिय बंधु’ से संबोधित किया गया है।

इसके बाद लिखा है कि मथुरा में ​प्रियंका चतुर्वेदी की पत्रकार वार्ता में अमर्यादित व्यवहार को देखते हुए संबंधित कार्यकर्ताओं के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की गई। बाद में खेद प्रकट करने और ज्योतिरादित्य सिंधिया की संस्तुति पर यह कार्रवाई निरस्त कर दी गई। प्रियंका के इस ट्वीट के बाद काफी तादाद में यूजर्स ने कांग्रेस नेताओं के फैसले की आलोचना की।

LEAVE A REPLY