कर्नाटक में कशमकश बरकरार

0

कर्नाटक में कशमकश बरकरारक्रासवोटिंग के कयास। कांग्रेस और जनतादल-एस के कुछ विधायक अनुपस्थित। दोनों पक्ष अपने अपने दावे पर कायम।

बेंगलूरु। राज्यपाल द्वारा बोप्पय्या को प्रोटेम स्पीकर बनाने के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंची कांग्रेस को कोई राहत नहीं मिली। कोर्ट ने कहा, प्रोटेम स्पीकर बोप्पय्या ही रहेंगे और वे ही फ्लोर टैस्ट करवाएंगे। बार बार सुप्रीम कोर्ट पहुंचने वाली कांग्रेस की आज हार हुई। सरकारी पक्ष रखने वाले एएसजी ने स्वयं आगे बढकर कहा कि सरकार विधानसभा की आज की कार्यवाही का सीधा प्रसारण करवाया जाएगा इस पर कोर्ट ने संतोष जाहिर किया और कहा कि जनता को लाइव प्रसारण दिखाया जाए। कांग्रेस अब इसका क्रेडिट लेने के प्रयास में है कि यह व्यवस्था उसके कारण हो पाई है।

बहरहाल, विधानसभा में सभी नए सदस्य शपथ ग्रहण कर रहे हैं। कांग्रेस और जनतादल एस के अग्रणी नेता अपने अपने विधायकों को बचाने में लगे हैं। सूत्रों से छन छन कर खबरें आ रही हैं। समझा जा रहा है कि आनंद सिंह सहित दो विधायक भाजपा के पक्ष में वोट कर सकते हैं। कुछ और विधायक क्रास वोटिंग कर सकते हैं। बाद में उनकी सदस्यता जा सकती है परंतु वे फिर उपचुनाव में जीत कर आ सकते हैं। इसलिए क्रास वोटिंग को नकारा नहीं जा सकता। कुछ विधायक शपथ लेने के बाद भी अनुपस्थित रह सकते हैं। वर्तमान हालात में केवल 6 वोटों की भाजपा को जरूरत है। टाई होने की स्थिति में प्रोटेम स्पीकर का वोट भाजपा को मिलेगा।

कुल मिलाकर कुछ घंटे का ही वक्त बचा है। 4 बजे के लगभग विश्वास प्रस्ताव पेश होगा। यह भी संभव है कि कुछ विधायक हंगामा करें और स्पीकर उन्हें कार्यवाही से सस्पेंड कर दें। जनता दल के चार विधायक अनुपस्थित बताए जा रहे हैं। हालात धीरे धीरे भाजपा के पक्ष में बनते दिख रहे हैं। हालांकि कांग्रेस जेडीएस भी पूरे आत्मविश्वास में दिखाई दे रहे हैं।

LEAVE A REPLY