plane crash
plane crash

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। बेंगलूरु में मंगलवार को एयरो इंडिया शो के अभ्यास के दौरान दो सूर्यकिरण विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गए। हादसे में एक पायलट की मौत हो गई। येलहांका एयरफोर्स बेस पर सुबह 11.50 बजे अभ्यास उड़ान के दौरान दोनों विमान आपस में टकरा गए। विमानों की टक्कर के बाद इनमें आग लग गई और यहां आसमान में धुएं का ऊंचा गुबार छा गया। हादसे में तीन पायलट घायल हुए, जिन्हें अस्पताल पहुंचाया गया। तीसरा पायलट गंभीर रूप से घायल हुआ था, जिसने इलाज के दौराम दम तोड़ दिया।

इस चर्चित एयरो शो में वायुसेना के कई प्रसिद्ध विमान भाग लेते हैं, जो उड़ान के दौरान विभिन्न करतब दिखाते हैं। सोमवार को भी विमानों से शो का अभ्यास किया गया था। इसी क्रम में जब सूर्यकिरण विमानों ने मंगलवार को उड़ान भरी तो दोनों तेज धमाके के साथ आपस में टकरा गए। हादसे के बाद विमानों में लगी आग बुझाई गई। अधिकारियों ने बताया कि विंग कमांडर वीटी शेल्के और स्क्वाड्रन लीडर टीजे सिंह हादसे में सुरक्षित रहे। वहीं विंग कमांडर साहिल गांधी को काफी चोटें आईं। हादसे की जांच के आदेश ​दे दिए गए हैं।

सूर्यकिरण विमानों ने सोमवार को भी कई करतब दिखाए।
सूर्यकिरण विमानों ने सोमवार को भी कई करतब दिखाए।

विमानों की टक्कर इतनी जबर्दस्त थी कि पलभर में ये आग के शोलों में तब्दील हो गए। मौके पर मौजूद अधिकारियों ने घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया। हादसे के बाद संबंधित स्थान का एक वीडियो भी वायरल हुआ है, जिसमें आसपास फैला धुआं देखा गया।

टक्कर के बाद विमानों में आग लग गई।
टक्कर के बाद विमानों में आग लग गई।

विमानों की टक्कर होते ही मौजूद सुरक्षाकर्मी दौड़े। मौके पर अग्निशमन दल के कर्मचारियों ने आग पर काबू पाया। घटनास्थल की तस्वीरों में देखा गया कि टक्कर और आग लगने से विमान बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए। इस संबंध में डीजीपी फायर एमएन रेड्डी ने बताया कि उन्होंने घटनास्थल का दौरा किया। उन्होंने कहा कि दोनों पायलटों का इलाज जारी है और उन्हें खतरे से बाहर बताया गया है। इस हादसे में कोई नागरिक घायल नहीं हुआ है। इसके अलावा इसरो कॉलोनी को भी कोई बड़ा नुकसान नहीं हुआ है। अग्निशमन दल ने आग पर पूरी तरह से काबू पा लिया।

आग बुझाने के बाद विमानों का मलबा।
आग बुझाने के बाद विमानों का मलबा।

बता दें कि एयरो शो के दौरान वायुसेना के ये विमान कई खतरनाक प्रदर्शन करते हैं। कई बार ये बहुत तेज गति के साथ बेहद करीब से गुजरते हैं। इन विमानों के पायलट काफी प्रशिक्षित होते हैं। जंग के मैदान में ये दुश्मन के इलाके में भारी तबाही मचाने में सक्षम होते हैं। एयरो शो में वायुसेना की शक्ति की झलक दिखाई देती है।

LEAVE A REPLY