जीवी मोबाइल्स
जीवी मोबाइल्स

नई दिल्ली/भाषा। फीचर एवं स्मार्टफोन बनाने वाली घरेलू कंपनी जीवी मोबाइल्स का नया कारखाना इस साल के आखिर तक काम करना शुरू कर देगा। इससे करीब 1,100-1,200 लोगों को रोजगार मिलेगा। कंपनी के एक शीर्ष अधिकारी ने यह जानकारी दी।

जीवी मोबाइल्स के विपणन विभाग के प्रमुख हर्ष वर्धन ने बातचीत में कहा कि कंपनी महाराष्ट्र में पुणे जिले के लोनावला में इस नए कारखाने की स्थापना कर रही है।

उन्होंने बताया, इस नए कारखाने के लिए जमीन अधिग्रहण का काम पूरा हो चुका है एवं निर्माण कार्य शुरू हो चुका है। इस परियोजना पर 100-125 करोड़ रुपए की लागत आएगी, जिसमें से 30-40 करोड़ रुपए का निवेश अब तक हो चुका है।

इस कारखाने में कंपनी के फोन का विनिर्माण किया जाएगा। फिलहाल कंपनी दिल्ली के महरौली में आयातित कलपुर्जों को असेंबल करके मोबाइल फोन की बिक्री भारत, श्रीलंका, बांग्लादेश, म्यामार और नेपाल के बाजारों में करती है।

उल्लेखनीय है कि जीवी देश में फीचर फोन एवं शुरुआती रेंज के स्मार्टफोन बनाने वाली प्रमुख कंपनी है। अधिकारी के मुताबिक कंपनी को पिछले वित्त वर्ष में 460 करोड़ रुपए की आमदनी हुई थी।

कंपनी अपने नए तरह के उत्पादों के लिए जानी जाती है और इसी कड़ी में उसने ऐसे फीचर फोन बाजार में पेश किए हैं, जिसके जरिए किसी स्मार्टफोन को चार्ज किया जा सकता है। कंपनी के ऐसे फीचर फोन किसी पावर बैंक की तरह काम करते हैं।

हर्षवर्धन ने चालू वित्त वर्ष में कंपनी के बिक्री के आंकड़ों को लेकर कहा, हमने हाल में कुछ नए स्मार्टफोन बाजार में उतारे हैं। फीचर फोन में कंपनी के बिक्री के आंकड़े अच्छे हैं। ऐसे में उम्मीद है कि इस साल हम 600-700 करोड़ रुपए के बिक्री के आंकड़े को प्राप्त कर लेंगे।

शुरुआती रेंज के स्मार्टफोन बाजार में बड़ी कंपनियों से प्रतिस्पर्धा के बारे में पूछे जाने पर हर्षवर्धन ने कहा, हमारा जोर उच्च गुणवत्ता बनाये रखने के साथ-साथ प्रतिस्पर्धी कीमत पर उत्पादों को पेश करना है। इसके अलावा हमारा ध्यान भारतीय उपभोक्ताओं की जरूरतों के अनुसार उत्पाद उतारना है।

उन्होंने उम्मीद जताई कि कंपनी आने वाले वर्षों में हेडफोन, ब्लूटूथ स्पीकर जैसे उत्पाद भी बाजार में उतारेगी।

LEAVE A REPLY