नई दिल्ली। केन्द्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने शुक्रवार को कहा कि देश के निर्माण में इंजीनियरों की भूमिका महत्वपूर्ण रही है और वे अपने अभिनव तरीकों से आम जनता का जीवन बेहतर बनाने के साथ ही ’’नए भारत’’ के निर्माण में अहम भूमिका निभा सकते हैं। नकवी ने इंस्टीट्यूशन ऑफ सिविल इंजीनियर्स (इंडिया) द्वारा इंजीनियर्स दिवस पर यहां आयोजित सेमिनार में कहा कि इंजीनियरों ने अपनी सृजनात्मक सोच और क़डी मेहनत से राष्ट्र के निर्माण में अहम भूमिका निभाई है और देश और समाज को तकनीक के क्षेत्र में एक नई दिशा दिखाने का काम किया है। उन्होंने कहा कि इंजीनियरों, डॉक्टरों और अन्य पेशेवरों की समाज के प्रति एक ब़डी जिम्मेदारी बनती है और इस दिशा में इंजीनियर नए नए तरीकों से आम जनता के जीवन को बेहतर बनाने और ’’नया भारत ’’के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। नकवी ने कहा कि मोदी सरकार देश के संसाधनों का इस्तेमाल प्रौद्योगिकी के माध्यम से गरीबों, कमजोर तबकों के सशक्तिकरण एवं ’’नए भारत ’’ के निर्माण के लिए कर रही है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस संकल्प में समाज के हर तबके और सभी क्षेत्रों के पेशेवरों की ब़डी भूमिका है। उन्होंने प्रौद्योगिकी को रूपांतरण का उपकरण बताते हुए कहा कि भारतीय प्रौद्योगिकी और प्रौद्योगिकीविद् दुनिया में सबसे बेहतर हैं। चाहे वह रक्षा क्षेत्र हो, बुनियादी ढांचा, रेलवे हो या अंतरिक्ष विज्ञान, देश के इंजीनियरों ने पूरी दुनिया में अपना परचम फहराया है।

LEAVE A REPLY