प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संबोधित करते हुए।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संबोधित करते हुए।

गाजियाबाद/(भाषा)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत को निशाना बना रहे आतंकवादी ताकतों को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि देश हमेशा पीड़ित नहीं रह सकता। पुलवामा और उरी में हुए आतंकवादी हमलों का हवाला देते हुए उन्होंने कहा, ‘बहुत हो गया।’ उन्होंने कहा, ‘हम अनंत काल तक पीड़ित नहीं रह सकते।’

केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल के 50वें स्थापना दिवस समारोह के मुख्य अतिथि प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जब देश दुश्मन पड़ोसी का सामना कर रहा हो और सीमा पार से देश के भीतर हो रहे षड्यंत्रों को शह मिल रही हो, तो ऐसे में सीआईएसएफ जैसे सुरक्षा बलों की भूमिका काफी महत्वपूर्ण हो जाती है।

प्रधानमंत्री ने कहा, जब पड़ोसी बहुत शत्रुतापूर्ण हो और युद्ध लड़ने की क्षमता नहीं रखता हो और सीमा पार से देश में पड्यंत्र कर रहे तत्वों को शह मिल रही हो और इस तरह की मुश्किल परिस्थितियों में जब आतंक का भयावह चित्र सामने आए, तब देश और संस्थानों की सुरक्षा (सुनिश्चित करना) बहुत चुनौतीपूर्ण होता है।

मोदी ने यह भी कहा कि वीआईपी संस्कृति कभी-कभी सुरक्षा संरचना में अवरोध पैदा करती है। प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार को कभी-कभी कुछ फैसले पड़ते हैं, इसलिए कुछ मजबूत कदम उठाए।

सीआईएसएफ को बधाई देते हुए प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि व्यक्ति की सुरक्षा करना आसान है लेकिन संस्थान की सुरक्षा करना मुश्किल है, जहां रोजाना करीब 30 लाख लोग आते हैं। जहां हर चेहरा अलग हो, सबका व्यवहार अलग हो। यह किसी वीआईपी को सुरक्षा देने से कई गुना बड़ा काम है।

मोदी ने कहा कि नागरिक अगर सहयोग न करें तो आपका काम और मुश्किल हो जाता है, इसलिए नागरिकों को प्रशिक्षित करना ज़रूरी है। एयरपोर्ट और मेट्रो में सुरक्षा सीआईएसएफ के समर्पण से ही संभव हो पाई है। आपदाओं की स्थिति में भी आपका योगदान हमेशा से सराहनीय रहा है। उन्होंने कहा कि केरल में आई भीषण बाढ़ में आपने राहत, बचाव के काम में दिन-रात एक करके हजारों लोगों का जीवन बचाने में मदद की। देश में ही नहीं विदेश में भी जब मानवता संकट में आई है तब सीआईएसएफ ने अपनी जिम्मेदारी बखूबी निभाई है।

LEAVE A REPLY