बीएस येड्डीयुरप्पा ने आईएमए पीड़ितों के लिए न्याय की मांग की है।
बीएस येड्डीयुरप्पा ने आईएमए पीड़ितों के लिए न्याय की मांग की है।

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। शहर के रोशनपुरा इलाके में चलने वाली आई मोनेटरी एडवाइजरी (आईएमए) कंपनी के प्रवर्तकों द्वारा कुल धोखाधड़ी 15,000 करोड़ रुपए से अधिक की हो सकती है। कर्नाटक विधानसभा में विपक्ष के नेता बीएस येड्डीयुरप्पा ने यह आरोप लगाते हुए पीड़ितों को आश्वासन दिया कि वह धोखाधड़ी की सीबीआई जांच के लिए राज्य सरकार पर दबाव बनाएंगे।

पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष येड्डीयुरप्पा ने न्याय की मांग करते हुए एक ज्ञापन सौंपने वाले पीड़ितों को धीरज बंधाते हुए कहा, भाजपा उन्हें न्याय दिलाने और देश से भाग चुके अपराधी को दंडित कराने के लिए सभी प्रयास करेगी। आईएमए की धोखाधड़ी का शिकार होकर अपनी जमा-पूंजी खो चुके पीड़ितों के एक प्रतिनिधिमंडल ने येड्डीयुरप्पा से धरना स्थल पर मुलाकात की, जहां वह शुक्रवार से से कर्नाटक सरकार द्वारा जेएसडब्ल्यू स्टील कंपनी को बल्लारी में 3666 एकड़ जमीन देने के फैसले के खिलाफ दिन-रात धरने पर बैठे हुए हैं।

यह कहते हुए कि आईएमए प्रवर्तक ने आम निवेशकों को 15,000 करोड़ रुपए का चूना लगाया है, भाजपा नेता ने आरोप लगाया कि राज्य में सत्तारूढ़ जनता दल (एस)-कांग्रेस गठबंधन सरकार के सदस्यों के आईएमए के प्रमोटर मोहम्मद मंसूर खान के साथ अच्छे संबंध थे। उन्होंने यह आश्वासन दिया कि अपनी दिल्ली यात्रा के दौरान वह केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से इस मामले की सीबीआई जांच करवाने की अपील करेंगे और उन लोगों को राहत प्रदान करेंगे जिन्होंने अपनी मेहनत की कमाई आईएमए कंपनी में लगाई थी।

LEAVE A REPLY